Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बिहार: खुद के अंतिम संस्कार में पहुंच गया शख्स, गांव में मचा हड़कंप

बिहार के एक गांव में एक व्यक्ति उसी समय अपने घर पर पहुंचा जब उसका अतिंम संस्कार (श्राद्धकर्म) का कार्यक्रम चल रहा था।

बिहार: खुद के अंतिम संस्कार में पहुंच गया शख्स, गांव में मचा हड़कंपMuzaffarpur: A Person Reaches His Last Rites Stir In Village

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने सबको चौंका दिया। दरअसल यहां एक शख्स की मौत हो चुकी थी। उसका अंतिम संस्कार की कराया जा चुका था लेकिन जब उसका श्राद्धकर्म चल रहा था तभी वह अचानक से सामने आ गया। उस शख्स को जिसने भी देखा उसके होश उड़ गए। कुछ ही देर में यह खबर पूरे गांव में चर्चा का विषय बन गई।

6 सितंबर को दर्ज कराया था मामला

खबरों के मुताबिक मुजफ्फरपुर जिले के मुशहरी थाना इलाके के बुधनगरा गांव में एक व्यक्ति का श्राद्धकर्म का कार्यक्रम चल रहा था कि तभी वहीं व्यक्ति सकुशल सामने आ गया। उसके देखते ही हर कोई चौंक गया। संजीव कुमार (49) बीते 25 अगस्त को लापता हो गया था। इसके बाद उसके पिता रामसेवक ठाकुर ने मुशहरी थाना में एक मामला छह सितंबर को दर्ज कराया था। जिसमें बताया गया था कि संजीव मंदबुद्धि है और पिछले कई दिनों से लापता है।

गंडक नदी किनारे मिला शव

इस घटना के कुछ दिन बाद सिकंदरपुर ओपी इलाके के अखाड़ा घाट पुल के नजदीक गंडक नदी के किनारे एक अधेड़ व्यक्ति का शव मिला। इस शव को पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच में भेज दिया गया। फिर जैसे ही संजीव के परिजनों को खबर मिली कि किसी अधेड़ का शव मिला है लेकिन पहचान नहीं हुई है। उसको एसकेएमसीएच में भेजा गया है।

अज्ञात शव को समझा अपना बेटा

फिर संजीव के पिता अपने रिश्तेदारों के साथ एसकेएमसीएच पहुंचे और उस अज्ञात शव को अपना बेटे का शव बताकर ले लिया। फिर उस अज्ञात शव का दाह संस्कार भी कर दिया। वहीं इस बीच संजीव अपने घर पहुंच गया। तब उसका ही श्राद्धकर्म चल रहा था।

(प्रतीकात्मक तस्वीर)









अज्ञात शव का किया दाह संस्कार

वहीं जब संजीव के पिता रामसेवक ठाकुर से उक्त शव के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि बहुत खोजबीन के बाद पता चला कि जिले के सिकंदरपुर ओपी क्षेत्र में नदी किनारे एक शव मिला जिसे पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेज दिया है। हमने जब अस्पताल जाकर देका तो अज्ञात शव को देखने के बाद वह हमारे बेटे जैसा ही लगा। हमने कागजी कार्रवाई करने के बाद शव ले लिया और दाह संस्कार कर दिया।

इस मामले पर इस्पेक्टर अब्दुल्ला खान ने बताया कि मामला दर्ज कर जांच की जा रही थी। इस बीच गायब मंदबुद्धि व्यक्ति अपने घर पर आ गया। अब कोर्ट में आगे की जानकारी दर्ज कराई जाएगी।

Next Story
Share it
Top