Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चमकी बुखार : बिहार में थमा चमकी का कहर, राज्य और केंद्र सरकार अब भी अलर्ट

बिहार में चमकी बुखार का कहर अब थम रहा है। राज्य में मानसून के दस्तक देने के बाद से ही मुजफ्फरपुर मेडिकल कॉलेज और केजरीवाल कॉलेज में चमकी के मरीज कम आ रहे हैं। हालांकि राज्य स्वास्थ्य विभाग के साथ साथ केंद्र सरकार भी अलर्ट पर है। दोनों सरकार चमकी पर नजर बनाई हुई है।

चमकी बुखार : बिहार में थमा चमकी का कहर, राज्य और केंद्र सरकार अब भी अलर्ट
X
Muzaffarpur Chamki Fever controlled State and Central government still on alert

बिहार में चमकी बुखार का कहर अब थम रहा है। राज्य में मानसून के दस्तक देने के बाद से ही मुजफ्फरपुर मेडिकल कॉलेज और केजरीवाल कॉलेज में चमकी के मरीज कम आ रहे हैं। हालांकि राज्य स्वास्थ्य विभाग के साथ साथ केंद्र सरकार भी अलर्ट पर है। दोनों सरकार चमकी पर नजर बनाई हुई है।

बता दें कि चमकी बुखार के कहर से मुजफ्फरपुर व अन्य जिलों के करीब 152 बच्चों की मौत हो चुकी है। मुजफ्फरपुर में इस बीमारी ने करीब 132 बच्चों को अपना शिकार बना लिया।

पीएम मोदी ने पहली बार संसद में जिक्र किया

बिहार में चमकी बुखार से करीब 152 बच्चों की मौत के बाद पीएम मोदी ने इन्सैफेलाइटिस से बच्चों की मौत पर संसद में चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि यह हमारे लिए दुख और शर्म की बात है कि हम आजादी के 70 साल बाद भी ऐसे बीमारियों से लड़ नहीं पाए। हम सभी को इस पर काम करना होगा। इसका स्थाई रूप से समाधान निकालना होगा।

सुप्रीम कोर्ट ने भी सरकार को लताड़ा

बिहार में चमकी के कहर से बच्चों की मौत पर सुप्रीम कोर्ट ने भी सरकार को जमकर फटकार लगाई है। कोर्ट ने केंद्र व राज्य सरकार से इस संबंध में रिपोर्ट मांगा है। कोर्ट ने बच्चों के हेल्थ, न्यूट्रिशन और हाइजिन के संबंध में सरकार से जवाब देने को कहा है। इसके साथ ही अदालत ने कहा है कि ये बच्चों का मूल अधिकार है, ये उन्हें दिया जाना चाहिए।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story