Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Mausam Ki Jankari : बिहार-नेपाल सीमावर्ती इलाकों में भारी बारिश की संभावना, बाढ़ का खतरा फिर से बना

नेपाल में इन दिनों भारी बारिश हो रही है। भारतीय मौसम विभाग ने भी आशंका जताया है कि 23 से 27 जुलाई के बीच राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने सीतामढ़ी, पश्चिम चंपारण, मधुबनी और मुजफ्फरपुर के प्रशासन को अलर्ट रहने का निर्देश जारी किया है। वहीं मुजफ्फरपुर के 8 ब्लॉक पहले से ही बाढ़ से जूझ रहे थे कि मंगलवार को एक और क्षेत्र मुरौल में बाढ़ का पानी घुस गया।

Mausam Ki Jankari : बिहार-नेपाल सीमावर्ती इलाकों में भारी बारिश की संभावना, बाढ़ का खतरा फिर से बना

नेपाल में इन दिनों भारी बारिश हो रही है। भारतीय मौसम विभाग ने भी आशंका जताया है कि 23 से 27 जुलाई के बीच राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने सीतामढ़ी, पश्चिम चंपारण, मधुबनी और मुजफ्फरपुर के प्रशासन को अलर्ट रहने का निर्देश जारी किया है। वहीं मुजफ्फरपुर के 8 ब्लॉक पहले से ही बाढ़ से जूझ रहे थे कि मंगलवार को एक और क्षेत्र मुरौल में बाढ़ का पानी घुस गया। वहीं दरभंगा, सीतामढ़ी और मधुबनी जिलों में बाढ़ प्रभावितों को राहत देने के लिए भारतीय वायु सेना (IAF) की केंद्रीय वायु कमान ने दरभंगा में दो हेलीकॉप्टर तैनात किए हैं।

प्रशासन के अनुसार बाढ़ की मरम्मत के दौरान तेज बहाव में लखनोई नदी का बाध बह गया और पानी मुरौल तक पहुंच गया। बाढ़ का पानी क्षेत्र में घुसने से औराई बाजार में बाढ़ का खतरा बन गया है। अधिकारियों के अनुसार बाढ़ की मरम्मत बीते पांच दिनों से हो रही थी। इंजीनियरों की पूरी टीम बांध को बांधने में लगी हुई है। जिले में 205 गांव बाढ़ की चपेट में आ गये हैं। साढ़े तीन लाख लोग इससे प्रभावित हैं।

नरकटियागंज में रेलवे लाइन पर बाढ़ का पानी भर जाने से सोमवार की रात 12 बजे से सुबह के चार बजे तक रेलवे सिग्नल प्रभावित रहा। रेल प्रशासन ने कहा है कि पानी जमा हो जाने पर भी रेल यात्रा प्रभावित नहीं होगा। वहीं पश्चिम चंपारण के डीएम निलेश रामचंद्र ने कहा है कि नेपाल ने गंडक नदी में रेड अलर्ट जारी कर दिया है, इसलिए गंडक नदी के किनारे बसे गांवों के लोगों को अलर्ट रहने का निर्देश जारी किया गया है।

इसके साथ ही सुरक्षित स्थान पर जाने का सलाह दिया गया है।इधर मधुबनी में बाढ़ का खतरा फिर से बन रहा है, डीएम शीर्षत कपिल ने एक आदेश में कहा है कि मौसम विभाग ने कहा है कि 23-27 जुलाई तक मधुबनी व नेपाल के सीमावर्ती इलाकों में भारी बारिश की संभावनाएं हैं। इससे जिले में फिर से बाढ़ का खतरा बन गया है।

Next Story
Top