Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हॉस्पिटल से मां को डिस्चार्ज कराने के लिए 10 साल के बेटे ने मांगी भीख

बिहार के मधेपुरा में एक प्राइवेट अस्पताल का अमानवीय रवैया सामने आया है।

हॉस्पिटल से मां को डिस्चार्ज कराने के लिए 10 साल के बेटे ने मांगी भीख

बिहार के मधेपुरा में एक प्राइवेट अस्पताल का अमानवीय रवैया सामने आया है। यहां एक महिला द्वारा बिल न भर पाने पर उसे 12 दिनों तक बंधक बनाकर रखा गया।

इस अस्पताल में महिला की डिलिवरी हुई थी और 70 हजार का बिल न चुका पाने की वजह से उसे अस्पताल से जाने नहीं दिया गया।

इसके बाद स्थानीय सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव के मामले में हस्तक्षेप के बाद महिला को अस्पताल से छुड़ाया जा सका।

यह भी पढ़ें- शर्मनाक: पति के लिए ब्लड नहीं लाने पर डॉक्टर ने पत्नी को चप्पल से पीटा

क्या है मामला

पीड़िता चौरा गांव की निवासी ललिता देवी है। उसे 12 नवंबर को अगम कुआं एरिया में मां शीतला इमर्जेन्सी अस्पताल में एडमिट कराया गया था।
पुलिस के अनुसार, इलाज के बाद अस्पताल ने ललिता को 1.5 लाख रुपए का बिल थमाया, लेकिन बाद में 70 हजार में डिस्चार्ज करने पर बात बनी।

अस्पताल का बिल भरने के लिए ललिता के 7 साल के बेटे कुंदन ने भीख मांगना शुरू कर दिया था। पीड़िता के पति निर्धन राम ने 50 हजार रुपए कर्ज लेकर एकट्ठा कर लिए थे, लेकिन 20 हजार अभी भी कम पड़ रहे थे। पूरा पैसा न जमा कर पाने पर अस्पताल ने पीड़िता को डिस्चार्च करने से मना कर दिया।

यह भी पढ़ें- महिलाओं के कपड़े उतरवा कर भूत-प्रेत भगाता है ये बाबा, निवस्त्र करने की बताई ये वजह

इसके बाद स्थानीय समाचार पत्र में कुंदन द्वारा मां को अस्पताल से निकालने के लिए भीख मांगने की खबर पढ़कर सांसद पप्पू यादव ने इस मामले पर संज्ञान लिया और अस्पताल को अपने पास से 25 हजार देने को कहा।

इसके बाद महिला को पुलिस की निगरानी में अस्पताल से निकलवा कर ऐम्बुलेंस से घर भेजा गया।

Next Story
Top