Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

लोकसभा चुनाव 2019: बेगूसराय का यह गांव करेगा मतदान का बहिष्कार, जानें क्या है पूरा मामला

लोकसभा चुनाव में बिहार की बेगूसराय सीट इस बार काफी चर्चा में है। इसकी वजह भाजपा उम्मीदवार गिरिराज सिंह और सीपीआई उम्मीदवार कन्हैया कुमार हैं। जो इस बार इस सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। लेकिन इस बीच बेगूसराय का एक ऐसा भी गांव जहां लोगों ने वोट का बहिष्कार कर दिया है।

लोकसभा चुनाव 2019: बेगूसराय का यह गांव करेगा मतदान का बहिष्कार, जानें क्या है पूरा मामला

लोकसभा चुनाव में बिहार की बेगूसराय सीट इस बार काफी चर्चा में है। इसकी वजह भाजपा उम्मीदवार गिरिराज सिंह और सीपीआई उम्मीदवार कन्हैया कुमार हैं। जो इस बार इस सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। लेकिन इस बीच बेगूसराय का एक ऐसा भी गांव जहां लोगों ने वोट का बहिष्कार कर दिया है। यहां के अधिकतर लोगों में चुनाव के प्रति काफी नाराजगी है।

सरकार की योजनाओं से असंतुष्ट ग्रामीण मतदान का विरोध करेंगे। उनका कहना है कि सरकार पहले यहां सड़क बनवाए फिर हम वोट देंगे। बता दें कि सीपीआई से कन्हैया कुमार, भाजपा से गिरिराज सिंह और महागठबंधन से तनवीर हसन के बीच इस सीट पर महामुकाबला है।

बेगूसराय के थाथा गांव के लोगों ने सड़क की समस्या को लेकर मतदान न करने की ठान ली है। स्थानीय लोगों के अनुसार सरकार हमारे लिए कुछ नहीं कर रही है। गांव में स्वास्थ्य सुविधाएं नहीं हैं। साथ ही अस्पताल जाने के लिए कोई भी साधन नहीं है। हम नाव से नदी पार करके शहर की ओर जाते हैं। हमें सड़क चाहिए, तब हम वोट देंगे।

बेगूसराय सीट का समीकरण

बेगूसराय सीट पर भूमिहार मतदाता ही निर्णायक भूमिका में रहते हैं। इस सीट से कन्हैया और गिरिराज सिंह दोनों ही प्रत्याशी भूमिहार जाति से आते हैं। यहां इस जाति का राजनीति में खास दबदबा है। बिहार के बेगूसराय को कभी वामपंथियों का गढ़ भी कहा जाता था। यहां कभी भूमिहार जमीदारों का कब्जा था और इन जमींदारों से लड़ने के लिए लोगों ने वामपंथ का सहारा लेकर ही उनके खिलाफ आवाज बुलंद किया था। बता दें कि जो जमीदारों से लड़े थे वे भी भूमिहार ही थे।

पिछले चुनाव की स्थिति

यहां से पिछले चुनाव में भाजपा ने भोला सिंह को अपना प्रत्याशी बनाया था। राजद के प्रत्याशी तनवीर हसन को 3,69,892 वोट मिले थे जबकि विजयी रहे भाजपा के भोला सिंह को 4,28,227 वोट मिले थे। सीपीआई यहां तीसरे स्थान पर रही।

Next Story
Top