Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हत्या के आरोपी हैं नीतीश, बचने के लिए थामा बीजेपी का दामन: लालू

नीतीश को यह मालूम हो गया था कि वह केस में बचने वाले नहीं हैं इसलिए उन्होंने इस्तीफा दे दिया।

हत्या के आरोपी हैं नीतीश, बचने के लिए थामा बीजेपी का दामन: लालू

बिहार की राजनीति एक नए मोड़ पर आ गई है। नीतीश कुमार के इस्‍तीफे के बाद राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने प्रेस वार्ता में कहा कि जीरो टॉलरेंस की बात करने वाले नीतीश कुमार खुद हत्‍या के आरोपी है।

जिसके बाद लालू ने कहा कि में पूरी ईमानदारी से ये बात कह राहा हूं कि नीतीश पर 302 के केस के आरोपी हैं। उन्‍होंने चुनाव आयोग को दिए गए अपने हलफनामे में इसका साफ जिक्र किया है।

नीतीश को डर है कि वह नहीं बचेंगे। जिसके बाद लालू ने कहा, जब हमारा कोई कसूर नहीं है तो हम इस्तीफा क्यों देंगे। नीतीश कुमार खुद धारा 302 के केस में आरोपी हैं, आर्म्स एक्ट का केस है।

उन्होंने कहा, 'नीतीश ने एमएलसी के चुनाव में चुनाव आयोग को जो शपथ दी है उसमें भी उन्होंने मुकदमे की जानकारी दी है।

लालू ने कहा, नीतीश को यह मालूम हो गया था कि वह केस में बचने वाले नहीं हैं इसलिए उन्होंने इस्तीफा दे दिया। ये बीजेपी और आरएसएस से मिले हुए हैं। उन्होंने पूछा कि यह नीतीश की कैसी ईमानदारी है।

लालू ने नीतीश पर आरोप लगाया है कि वह भाजपा से मिले हुए हैं। उन्‍होंने कहा कि नीतीश ने बिहार की जनता को तमाचा मारा है। जनता ने गठबंधन को पांच साल के लिए बीजेपी के खिलाफ जनमत दिया था।

लालू ने कहा कि गठबंधन के विधायक मिलकर अपना नया नेता चुनें और सरकार बनाएं। बिहार की जनता ने नीतीश कुमार को पांच साल के लिए चुना है। उसे पूरा कीजिए. कल बैठिए, न तेजस्‍वी रहेगा और न ही आप रहेंगे।

मेरी पार्टी बड़ी है। हक मेरा है लेकिन सब लोग बैठिए और नया नेता चुनिए। मैं राज्‍य में राष्‍ट्रपति शासन नहीं चाहता हूं। बिहार की जनता सब देख रही है।

उन्होंने कहा, नीतीश कुमार ने कहा था मिट्टी में मिल जाएंगे लेकिन भाजपा के साथ नहीं जाएंगे। लालू प्रसाद याजव ने आगे की रणनीति पर कहा, नीतीश ने इस्तीफा दिया हमें इस बात का दुख है।

नीतीश नया नेता चुन कर नई सरकार बनाएं। महागठबंधन हमने नहीं खत्म किया है। विधायक दल की मीटिंग करके नया नेता बनाया जाए।

Next Story
Top