Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अपहरण के जिन आरोपियों की 3 महीने से पुलिस कर रही तलाश, वे हथियारों के साथ सोशल मीडिया पर डाल रहे तस्वीर

भागलपुर के शाहकुंड के बकचप्पर गांव की दो नाबालिग बहनों के अपहरण के जिन आरोपियों पुलिस पिछले तीन महीने से ढूंढ रही है, वे पुलिस की नाक के नीचे सोशल मीडिया पर इन दिनों हथियारों के साथ अपनी तस्वीरों को अपलोड कर रहे हैं। इस तरह वह पीड़ितों को डराने का काम कर रहे हैं। आरोपी खुद तो सामने नहीं आ रहे हैं लेकिन बिचौलियों से वे दर्ज अपहरण का केस वापस लेने का दबाव बना रहे हैं।

अपहरण के जिन आरोपियों की 3 महीने से पुलिस कर रही तलाश, वे हथियारों के साथ सोशल मीडिया पर डाल रहे तस्वीर

भागलपुर के शाहकुंड के बकचप्पर गांव की दो नाबालिग बहनों के अपहरण के जिन आरोपियों पुलिस पिछले तीन महीने से ढूंढ रही है, वे पुलिस की नाक के नीचे सोशल मीडिया पर इन दिनों हथियारों के साथ अपनी तस्वीरों को अपलोड कर रहे हैं। इस तरह वह पीड़ितों को डराने का काम कर रहे हैं। आरोपी खुद तो सामने नहीं आ रहे हैं लेकिन बिचौलियों से वे दर्ज अपहरण का केस वापस लेने का दबाव बना रहे हैं।

खबरों के मुताबिक पीड़ित परिवार अपनी सुरक्षा की मांग को लेकर आईजी, डीआईजी, एसएसपी समेत स्थानीय थाने का चक्कर लगा चुके हैं लेकिन उन्हें हर जगह से निराशा ही मिल रही है। ताजा स्थिति यह है कि परिवार के सदस्य इन दिनों आरोपियों की हरकतों से खौफजदा हैं।

इस मामले में पॉक्सो के विशेष न्यायधीश ने आरोपियों की अग्रिम जमानत की अर्जी तक खारिज कर दी है। कोर्ट से आरोपियों की गिरफ्तारी का वारंट भी मिल चुका है। इसके बावजूद पुलिस एक आरोपी को नहीं पकड़ सकी है।

इसको लेकर जब भी पुलिस से सवाल किया जाता है तो पुलिस की ओर से शादी की नीयत से जुड़ा मामला बताकर पल्ला झाड़ दिया जाता है। दोनों बहनें नाबालिग हैं ऐसे में पुलिस की कार्रवाई सवालों के बीच घिर रही है।

दरअसल करीब तीन माह पहले (7 जून 2019) को दो नाबालिग सगी बहनों के अपहरण का मामला सामने आया। इस मामले में पीड़ित परिवार ने गांव के सात लोगों को नामजद किया। लेकिन पुलिस की ओर से एक भी आरोपी को अब तक गिरफ्तार नहीं किया गया है।

अभी परिवार की हालत ऐसी है कि खौफ की वजह से रातभर जागकर ही समय काट रहे हैं। पड़ोस के बदमाशों से जान से मारने की धमकी दिलाई जा रही हैं और केस वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा है। यही नहीं वे रात में गांव में हथियार के साथ घूमते भी नजर आते हैं, पुलिस इन्हें घर छोड़कर फरार बता रही है।

पीड़ित परिवार वाले पुलिस के कई वरिष्ठ अधिकारियों से आरोपियों की गिरफ्तारी और जान-माल की सुरक्षा की गुहार लगा चुके हैं लेकिन इस मामले उनके दिए कार्रवाई के निर्देशों का भी कोई असर नहीं है।

शाहकुंड पुलिस के मुताबिक सभी आरोपी घर छोड़कर फरार हैं। वहीं पीड़ित परिवार का कहना है कि उन्हें लगातार धमकियां मिल रही हैं। वे अवैध हथियारों के साथ तस्वीर फेसबुक व्हट्सऐप पर वायरल कर डरा रहे हैं।

इस मामले पर डीएसपी नेसार अहमद शाह ने कहा कि दोनों नाबालिग युवतियों को कोर्ट के आदेश के बाद बाल गृह भेजा गया है। दोनों ने अपने बयान में आरोपी के साथ स्वेच्छा से जाने की बात कही है। पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार करने की कोशिश कर रही है।

वहीं थानाध्यक्ष प्रह्लाद कुमार प्रखर ने कहा कि मामला शादी की नीयत से अपहरण का है। आरोपियों की गिरफ्तारी का वारंट है। छापेमारी की जा रही है। सभी घर छोड़कर फरार हैं, जल्द गिरफ्तार कर लिए जाएंगे।

Next Story
Top