Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जज का वीडियो वायरल, बोले- बस वही टोटल मिला है, ऊपर-नीचे का नहीं मिला है..

बीते महीने की 22 अगस्त को भागलपुर के एडिशनल सेशन जज-7 का कथित वीडियो सामने आया था। इस वीडियो में वह एक अज्ञात व्यक्ति से पैसों के लेन-देन को लेकर बात करते दिखाई दे रहे हैं। इस मामले में उन्हें निलंबलित करने का आदेश दिया गया था। भ्रष्टाचार के आरोप में निलंबित करने का यह आदेश शुक्रवार को भागलपुर कोर्ट पहुंचा।

जज का वीडियो वायरल, बोले- बस वही टोटल मिला है, ऊपर-नीचे का नहीं मिला है..
X
Judges Video Viral Saying Just Got Same Total Top Down Has Not Been Found

बीते महीने की 22 अगस्त को भागलपुर के एडिशनल सेशन जज-7 का कथित वीडियो सामने आया था। इस वीडियो में वह एक अज्ञात व्यक्ति से पैसों के लेन-देन को लेकर बात करते दिखाई दे रहे हैं। इस मामले में उन्हें निलंबलित करने का आदेश दिया गया था। भ्रष्टाचार के आरोप में निलंबित करने का यह आदेश शुक्रवार को भागलपुर कोर्ट पहुंचा।

आदेश आने के बाद सेशन जज अपने कोर्ट से उठकर चेंबर में चले गए। वहां उन्हें हाईकोर्ट के आदेश की जानकारी दी गई। उसके बाद वे कोर्ट के कामकाज से अल हो गए। भागलपुर कोर्ट के इतिहास में पहली बार किसी जज को भ्रष्टाचार के आरोप में सस्पेंड किया गया है।



विनय कुमार मिश्रा यहां एडीजे सात के रूप में पोस्टेड थे। उनके जिम्मे विजिलेंस के मामलों के कोर्ट के स्पेशल जज का प्रभार भी था। भागलपुर में विनय कुमार मिश्रा की पोस्टिंग 31 जनवरी 2017 को हुई थी। वे ढाई साल से अधिक समय से यहां पद पर बने हुए थे।

एडीजे सात को भ्रष्टाचार के जिस आरोप में निलंबित किया गया है, उससे जुड़ा एक वीडियो यूट्यूब समेत तमाम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर 22 अगस्त को वायरल हुआ था। इसी वीडियो को आधार बनाकर एडीजे सात के खिलाफ भागलपुर के लोहापट्टी निवासी व्यवसायी दीपक कुमार साह ने हाईकोर्ट के इंस्पेक्टिंग जज से 19 अगस्त को ही इसकी शिकायत की थी। इसका जिक्र व्यवसायी ने अपने फेसबुक पोस्ट में भी किया है।

चालीस सेकेंड के स्टिंग वीडियो में एक अज्ञात व्यक्ति कहता है कि दो मिनट के लिए सर खाली हम कुछ पूछना चाहते हैं। खाली आपको मिला सर ये पूछना बहुत जरूरी है। सात तीन को यानी सात मार्च को हम एक लाख रूपया भेजे थे। दस जून को दो लाख रूपया भेजे। 26-10 को यानि 26 अक्टूबर को डेढ़ लाख रूपया भेजे। इसके बाद अज्ञात व्यक्ति कागज का एक पुर्जा जज की ओर बढ़ाता है और जज उसे पढ़ने लगते हैं।



फिर अज्ञात व्यक्ति कहता है इसमें से कौन आपको मिला कौन नहीं, सर। तो जवाब में जज कहते दिख रहे हैं कि टोटल बिचला जो है। दो लाख नहीं मिला है। बस वही टोटल मिला है। बाकि ऊपर-नीचे का नहीं मिला है।

इसके बाद अज्ञात शख्स कहता है इसलिए हमको डाउट हो रहा था। उस दिन हमको ग्यारह बजे रात में फोन आया सर। गलत है न सर। फिर जज कागज के पर्चे पर अंगुली रखकर दिखाते हुए कहते हैं टोटल ये होगा। एक बार एक और दो बार पचास-पचास।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story