Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बिहार: JDU का बड़ा ऐलान, नहीं लड़ेगी उपचुनाव, जानें वजह

बिहार में खाली हुए एक लोकसभा सीट और दो विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव की घोषणा होने के बाद बिहार में सत्तारूढ़ JDU ने 11 मार्च को होने वाले उपचुनाव में नहीं उतरने का फैसला किया है।

बिहार: JDU का बड़ा ऐलान, नहीं लड़ेगी उपचुनाव, जानें वजह

बिहार में खाली हुए एक लोकसभा सीट और दो विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव की घोषणा होने के बाद बिहार में सत्तारूढ़ JDU ने 11 मार्च को होने वाले उपचुनाव में नहीं उतरने का फैसला किया है। ये सीटें सांसद एवं विधायकों के आकस्मिक निधन के बाद खाली हुआ।

आपको बता दें कि आगामी 11 मार्च को अररिया लोकसभा और भभुआ एवं जहानाबाद विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होंगे। सितंबर 2017 में आरजेडी के सांसद मोहम्मद तस्लीमुद्दीन के निधन के बाद अररिया सीट खाली हो गई थी वहीं बीजेपी विधायक आनंद भूषण पांडे के निधन के बाद भभुआ और आरजेडी विधायक मुंद्रिका सिंह यादव के निधन के बाद जहानाबाद विधानसभा सीट खाली हुई है।

यह भी पढ़ें- सुंजवां आर्मी कैंप आतंकी हमला: जम्मू पहुंचे आर्मी चीफ, सेना का ऑपरेशन जारी, 2 जवान शहीद- 3 आतंकी ढेर

NDA की केन्द्र सरकार और बिहार की राज्य सरकार में बीजेपी और जेडीयू का गठबंधन है। जेडीयू के निलंबित विधायक सरफराज आलम ने शनिवार को पार्टी और विधानसभा से इस्तीफा दे दिया और आरजेडी में शामिल हो गए।

आलम ने ऐसा करके अररिया लोकसभा उपचुनाव लड़ने का स्पष्ट संकेत दे दिया जिसका प्रतिनिधित्व उनके पिता मोहम्मद तस्लीमुद्दीन करते थे। विधायक पद से इस्तीफा देने के बाद राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी की उपस्थिति में दल की सदस्यता ग्रहण कर ली।

यह घटनाक्रम बिहार में विधानसभा की दो सीटों के साथ ही अररिया लोकसभा सीट के लिए उपचुनाव घोषित होने के एक दिन बाद आया है। तसलीमुद्दीन ने 2014 के लोकसभा चुनाव में दो लाख से अधिक वोट से सीट पर जीत दर्ज की थी।

वहीं अलग अलग चुनाव लड़ने वाली बीजेपी और जेडीयू के उम्मीदवार क्रमश: दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे थे। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अररिया लोकसभा क्षेत्र और दोनों विधानसभा क्षेत्रों से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार चुनाव लड़ेगें। जेडीयू इस उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी का समर्थन करेगी।

Next Story
Top