Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नीतीश के खिलाफ अपनी ही पार्टी में उठ रहे बगावती सुर, शरद ने दिखाए तेवर

शरद यादव ने कहा कि यह बिहार के लिए बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।

नीतीश के खिलाफ अपनी ही पार्टी में उठ रहे बगावती सुर, शरद ने दिखाए तेवर

बिहार की सियासत में इन दिनों काफी हलचल मची हुई है। जब से नीतीश कुमार ने राजद का साथ छोड़ बीजेपी का हाथ थामा है तब से उनकी छवि धूमिल ही होती जा रही है। यहां तक कि अब उनकी पार्टी के नेताओं के भी बगावती तेवर देखने को मिल रहे हैं।

नीतीश की पार्टी के एक एक बड़े नेता शरद यादव ने महागठबंधन पर कहा कि उन्हें इसके टूटने का अफसोस है और ऐसा नहीं होना चाहिए था। ये बात उन्होंने सोमवार को संसद के बाहर कही। उन्होंने कहा कि बिहार में जो राजनैतिक माहौल है वो अच्छा नहीं है। ये न केवल भारत की बल्कि बिहार की 11 करोड़ जनता के साथ गलत है।

इसे भी पढ़ें: कानून तोड़ना-कोर्ट की अवमानना करना हमारे खून में है: जस्टिस खेहर

उन्होंने कहा कि मैं इस निर्णय से सहमत नहीं हूं, और यह बिहार के लिए बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने चुनाव में बीजेपी के खिलाफ राजद और जेडीयू के महागठबंधन को मिले जनाधार का जिक्र करते हुए कहा कि लोगों ने हमें जनादेश इसलिए नहीं दिया था।

इसका एक तर्कसंगत कारण भी है। बता दें कि पिछले बिहार चुनाव ने राजद और जेडीयू ने बीजेपी की संप्रदायिकता की भावना के खिलाफ वोट मांगा था।

लोगों ने उनके गठबंधन को चुनाव में जिताया है। अब नीतीश महागठबंधन तोड़ बीजेपी के साथ मिलकर अपनी सरकार तो पक्की कर ली लेकिन वहां की जनता के साथ ये सरासर धोखा है।

इसे भी पढ़ें: राह चलती महिला पर डाला तेजाब, बाइकसवार फरार

इससे पहले भी शरद यादव ने रविवार को ट्वीट कर पीएम मोदी पर कालेधन को ले कर तंज कसा था। उन्होंने लिखा कि विदेशों से कालाधन वापस नहीं आया, जो सत्ताधारी पार्टी का एक मुख्य नारा था और ना ही पनामा पेपर्स में नामित लोगों में से किसी को पकड़ा गया।

Next Story
Top