Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

शर्मनाक: मुजफ्फरपुर शेल्‍टर होम की पीड़िता से दूसरी बार चलती कार में गैंगरेप, दो माह की गर्भवती

पीड़िता की शिकायत के मुताबिक शुक्रवार को वह अपने मोहल्ले में थी तभी कार में सवार चार लोगों ने उसे खींच लिया। फिर गैंगरेप के बाद उसे छोड़कर फरार हो गए। पीड़िता दो माह की गर्भवती हो गई।

शर्मनाक: मुजफ्फरपुर शेल्‍टर होम की पीड़िता को अगवा कर चलती गाड़ी में गैंगरेप, अस्पताल में भर्तीBihar : Gangrape In Moving Car With Victim Of Muzaffarpur Shelter Home

बिहार के पश्चिम चंपारण (Paschim Champaran) जिले से इंसानियत को शर्मसार करने वाली खबर सामने आ रही है। यहां नगर थाना क्षेत्र में मुजफ्फरपुर बालिका आश्रय गृह कांड (Muzaffarpur Shelter Home Case) की एक पीड़िता ने अपने साथ गैंगरेप का मामला दर्ज कराया है। पीड़िता के साथ दूसरी बार गैंगरेप हुआ है।

पश्चिम चंपारण जिला मुख्यालय बेतिया के नगर थाना अध्यक्ष शशिभूषण ठाकुर ने बताया कि पीड़िता को इलाज के लिए शनिवार देर शाम गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उसकी मेडिकल जांच आज डाक्टरों की टीम द्वारा की गई है। उन्होंने बताया कि महिला थानाध्यक्ष पूनम कुमारी ने अस्पताल पहुंचकर मामले की जांच शुरू कर दी है।

चलती कार में किया गैंगरेप

शिकायत में पीड़िता ने कहा कि शुक्रवार की रात वह अपने मुहल्ले में ही थी। इसी दौरान कार सवार चार लोगों ने उसे गाड़ी के भीतर खींच लिया। शिकायत के मुताबिक आरोपियों ने चलती गाड़ी में उसके साथ बलात्कार किया और फिर उसे वापस मोहल्ले के पास छोड़ कर फरार हो गए। उसमें कहा है कि आरोपियों ने नकाब पहना हुआ था, लेकिन विरोध के दौरान पीड़िता उनका नकाब हटाने में कामयाब रही। सभी युवक एक ही परिवार के हैं।

मेडिकल रिपोर्ट के बाद हुई गर्भवति होने की पुष्टि

जीएमसीएच की डॉक्टर रूबी द्वारा की गई मेडिकल जांच के बाद प्रथम दृष्टया इसे दुष्कर्म का मामला बताया जा रहा है। डॉक्टर ने यह पुष्टि की है कि पीड़िता दो माह की गर्भवती है। जानकारी के मुताबिक पीड़िता के परिजन बदनामी से बचने के लिए मामले को दबाने की कोशिश कर रहे थे। लेकिन पीड़ता आरोपियों को सजा दिलाना चाहती थी।

जांच में जुटी है पुलिस

पुलिस ने जांच आगे बढ़ाते हुए इस मामले में अस्पताल प्रबंधन से रिपोर्ट मांगी है। जिसमें पीड़िता के साथ यौन शोषण, पीड़िता की उम्र व उसके कपड़ों की जांच से संबंधित सवाल पूंछे गए हैं। पीड़िता के बयान के आधार पर महिला थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है। जिसमें महिला ने आकाश कुमार, राजन कुमार, दीनानाथ कुमार एवं कुंदन कुमार को आरोपित किया है।

पिछले साल मुजफ्फरपुर शहर स्थित एक बालिका गृह में 34 लड़कियों के साथ यौन शोषण का मामला प्रकाश में आने पर गत वर्ष 26 जुलाई को राज्य सरकार ने इसकी जांच सीबीआई को सौंप दी थी।

Next Story
Share it
Top