Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बुजुर्ग मां को बेटे ने ही 4 महीने से घर में कर रखा था कैद, महिला आयोग ने छुड़ाया

बिहार में एक मां की दर्द भरी दास्तान सामने आई है। जिस बेटे को बुढ़ापे का सहारा समझा था उसी ने दौलत के लिए मृत्यु प्रमाणपत्र बनाकर एलआईसी का पैसा निकाल लिया। यही नहीं बुजुर्ग मां को चार महीने तक कैद करके रखा। इस घटना का वीडियो जब महिला आयोग तक पहुंचा तो महिला आयोग की टीम ने बुजुर्ग वीना देवी को मुक्त कराकर बेटी के ससुराल पहुंचाया।

बुजुर्ग मां को बेटे ने ही 4 महीने से घर में कर रखा था कैद, वीडियो मिलने के बाद महिला आयोग ने छुड़ायाElderly Mother Was Kept in Home For 4 Months By Son Womens Commission rescued

बिहार में एक बुजुर्ग मां की दर्द भरी दास्तान सामने आई है। जिस बेटे को बुढ़ापे का सहारा समझा था उसी ने दौलत के लिए मृत्यु प्रमाणपत्र बनाकर एलआईसी का पैसा निकाल लिया। यही नहीं बुजुर्ग मां को तीन महीने तक घर के भीतर कैद करके रखा। इस घटना का वीडियो जब महिला आयोग तक पहुंचा तो महिला आयोग की टीम ने बुजुर्ग वीना देवी को मुक्त कराकर बेटी के ससुराल पहुंचाया।

खबरों के मुताबिक यह मामला पटना के रामकृष्णा नगर का है। पीड़िता बुजुर्ग महिला वीना देवी पूर्व एडीएम पारस कुमार सिंह की पत्नी हैं। पारस कुमार की मौत ब्रेन हेमरेज के कारण हो गई थी। दोपहर तीन बजे जैसे ही महिला आयोग की टीम घर पर पहुंची तो बुजुर्ग महिला फफक-फफक कर रो पड़ी। इसके बाद महिला आयोग की टीम ने उन्हें बेटी के ससुराल पहुंचा दिया।



बुजुर्ग महिला का कहना है कि दौलत के लालच में बेटे ने मां का मृत्यु प्रमाणपत्र बनाकर एलआईसी का पैसा निकाल लिया। पैसा निकालने के बाद गाली-गलौच और मारपीट करने लगा। यहां तक कि बेटी से भी बात नहीं करने देता था।

कलयुगी बैंक मैनेजर बेटा और बहु मारपीट का विरोध करने और पुलिस को सूचना न दे दे। इसलिए बुजुर्ग महिला को न तो मोबाइल रखने देते थे और न ही टेलीविजन देखने देते थे। बुजुर्ग महिला ने बताया उसकी दो ही संतान हैं। बेटी जबलपुर में रहती है। इसके बाद भी बेटा कहता है कि सब बेटी दे देती है। वह करे तो क्या करे? बेटी से जब महिला आयोग की टीम ने बातचीत की तो उसने कहा कि जल्द ही वो मां को जबलपुर लेकर चली जाएगी।

Next Story
Top