Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कांग्रेस ने बिहार में नीतीश सरकार को घेरने के लिए बनाई ये रणनीति

कांग्रेस ने बिहार में किसानों से जुड़े मुद्दों को लेकर राज्य की नीतीश सरकार को घेरने की योजना बनाई है और इस महीने के आखिर में वह प्रदेश भर में राज्य स्तर पर विरोध प्रदर्शन करेगी। पार्टी का आरोप है कि सूखे की स्थिति, सिंचाई की उचित व्यवस्था नहीं होने और उपज की सही दाम पर खरीद नहीं होने से बिहार के किसान परेशान हैं, लेकिन राज्य सरकार ''संवेदनहीन'' बनी हुई है।

कांग्रेस ने बिहार में नीतीश सरकार को घेरने के लिए बनाई ये रणनीति

कांग्रेस ने बिहार में किसानों से जुड़े मुद्दों को लेकर राज्य की नीतीश सरकार को घेरने की योजना बनाई है और इस महीने के आखिर में वह प्रदेश भर में राज्य स्तर पर विरोध प्रदर्शन करेगी। पार्टी का आरोप है कि सूखे की स्थिति, सिंचाई की उचित व्यवस्था नहीं होने और उपज की सही दाम पर खरीद नहीं होने से बिहार के किसान परेशान हैं, लेकिन राज्य सरकार 'संवेदनहीन' बनी हुई है।

कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और सह-प्रभारी (बिहार) वीरेंद्र सिंह राठौर ने मंगलवार को कहा कि हम पिछले कई महीनों से बिहार के किसानों से संवाद कर रहे हैं। सूखे, सिंचाई की उचित व्यवस्था नहीं होने और उपज की सही दाम पर खरीद नहीं होने से किसान की हालत खराब है। नीतीश सरकार संवेदनहीन हो गई है।

किसानों की परेशानी कम करने के लिए कोई कदम नहीं उठाए गए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने तय किया है कि इस महीने के आखिर में हम पूरे बिहार में राज्य स्तर पर विरोध प्रदर्शन करेंगे। हम सरकार पर दबाव बनाएंगे ताकि किसानों को राहत मिल सके।

राठौर ने दावा किया कि राज्य में किसानों की उपज की सरकार द्वारा खरीद नहीं की जाती जिस वजह से किसान छोटे व्यापारियों को तय न्यूनतम समर्थन मूल्य से काफी कम कीमत पर अपनी उपज बेचने को मजबूर हो जाते हैं।

उन्होंने कहा कि गेंहू की सरकारी खरीद का न्यूनतम समर्थन मूल्य 1735 रुपये प्रति क्विंटल है लेकिन बिहार में पिछली फसल के दौरान किसान 1200 रुपये से भी कम कीमत पर गेहूं बेचने को मजबूर हुए। इसकी वजह सरकारी खरीद का नहीं होना है। किसानों की लागत भी नहीं निकल पाई। यह बहुत ही दयनीय स्थिति है।

Next Story
Top