Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिहार में ट्रक और बस के बीच भीषण टक्कर, 9 प्रवासी मजदूरों की सड़कों पर बिखरी लाश

बिहार में ट्रक और बस के बीच भीषण टक्कर (Fierce Collision) हो गई। इससे 9 मजदूरों की मौत हो गई।

बिहार में ट्रक और बस के बीच भीषण टक्कर,  9 प्रवासी मजदूरों की सड़कों पर बिखरी लाश
X

एक बार फिर मजदूरों की घटना सामने आई है। बिहार में मंगलवार सुबह करीब 5:30 बजे ट्रक और बस के बीच भीषण टक्कर हो गई। इस हादसे में 9 प्रवासी मजदूरों ने अपनी जान गंवा दी। दोनों के बीच टक्कर इतनी भीषण थी कि लोगों की लाशें (Dead Body) सड़कों पर बिखर गई।

यह घटना नौगछिया के खरीक के एनएच 31 पर अंभू चौक के पास की है। बताया जा रहा है कि सभी मजदूर (Migrant Workers) साइकिल सवारी कर अपने गांव लौट रहे थे। रास्ते में एक ट्रक मिल गई तो लिफ्ट (Lift) लेकर बैठ गए।

इन मजदूरों का कहां पता था कि जिस ट्रक में आराम से बैठकर आना चाह रहे हैं, असल में वह ट्रक उसके जिंदगी का काल बन बैठेगा।

सरिया से लोड ट्रक में बैठ कर आ रहे थे मजदूर

मिली जानकारी के अनुसार ट्रक में सरिया लोड था। मजूदरों को रास्ते में ट्रक मिली तो लिफ्ट लेकर बैठ गया। इस बीच दरभंगा से प्रवासियों को लेकर भागलपुर आ रही बस और ट्रक के आमने-सामने भीषण टक्कर हो गई। इसके चलते ट्रक अनियंत्रित होकर सड़क किनारे पलट गया।

ट्रक पलटते ही उसमें लोड सरिया मजदूरों के शरीर में घुस गया। इससे किसी का गला कट गया तो किसी का सिर फट गया। कई मजदूरों के पैर, हाथ और शरीर के अन्य अंगों को सरिया ने चीर दिया। ट्रक में सवार सभी मजदूर मारे गए। हादसे को देखते हुए ट्रक का ड्राइवर और खलासी दोनों मौके पर से फरार हो गया।

Also Read-राजस्थान में 122 नए कोरोना संक्रमित केस, एक और पॉजिटिव मरीज की मौत

बस में सवार मजदूरों को भी आई चोटें

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। तीन जेसीबी को बुलाकर सरिया को हटाकर दबे लाश को बाहर निकाला गया। सभी के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। हालांकि अभी तक मृतकों की पहचान नहीं हो पाई है, लेकिन सभी मजदूर पश्चिम चंपारण के बताये जा रहे हैं।

टक्कर के दौरान बस में सवार चार मजदूर भी घायल हो गए। सभी घायलों को नौगछिया अनुमंडल अस्पताल ले जाया गया। बस में सवार करीब 40 प्रवासी दरभंगा से आ रहे थे। ये लोग बंगलौर से श्रमिक स्पेशल ट्रेन के जरिए सोमवार रात 11 बजे दरभंगा पहुंचे थे।

यहां से लोगों को बांका और भागलपुर के विभिन्न ब्लॉक के क्वारैंटाइन सेंटर में भेजा जा रहा था।

Priyanka Kumari

Priyanka Kumari

Jr. Sub Editor


Next Story