Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सीएम नीतीश कुमार ने 416 करोड़ रुपए की 331 योजनाओं का एक साथ किया उद्घाटन

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 416 करोड़ रुपए की लागत वाली 331 योजनाओं का रिमोट के माध्यम से आज उद्घाटन एवं शिलान्यास किया।

सीएम नीतीश कुमार ने 416 करोड़ रुपए की 331 योजनाओं का एक साथ किया उद्घाटन

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 416 करोड़ रुपए की लागत वाली 331 योजनाओं का रिमोट के माध्यम से आज उद्घाटन एवं शिलान्यास किया। विकास कार्यों की समीक्षा यात्रा के क्रम में आज सारण जिला के एकमा प्रखंड के वार्ड संख्या 18 में भ्रमण के दौरान नीतीश ने सात निश्चय के अंतर्गत चल रहे विकास कार्यों की प्रगति को देखा।

मुख्यमंत्री ने पक्की गली-नाली, हर घर शौचालय, बिजली का कनेक्शन, हर घर नल का जल योजना के बारे में लोगों से जानकारी ली। वार्ड संख्या 18 का भ्रमण करने के बाद आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान नीतीश ने 416 करोड़ रुपए की 331 योजनाओं का रिमोट के माध्यम से उद्घाटन एवं शिलान्यास किया।

ये भी पढ़ें- पप्पू यादव ने की लोकसभा से इस्तीफे की पेशकश, नीतीश पर लगाया ये बड़ा आरोप

नीतीश ने इस अवसर पर एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि सात निश्चय पर काम किया जा रहा है। चार निश्चय, जिसमें हर घर तक पक्की गली-नाली, हर घर नल का जल, हर घर शौचालय, इन पर काम किया जा रहा है और चार वर्षों के अंदर काम पूरा कर लिया जायेगा।

उन्होंने कहा कि ढाई सौ की आबादी वाले गांवों को पक्की सड़कों से जोड़ दिया गया है, जो टोले बचे रह गए हैं, उनको भी टोला संपर्क निश्चय योजना के तहत पक्की सड़क से जोड़ दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि शौचालय निर्माण एक राष्ट्रीय योजना है। लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान के तहत बिहार भी इसमें अपना योगदान दे रहा है। अगर खुले में शौच से मुक्ति मिल जाए और पीने का शुद्ध पानी उपलब्ध हो जाए तो 90 प्रतिशत बीमारियों से छुटकारा मिल जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सिंचाई और स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी काम हो रहा है। शिक्षा एवं कल्याण पर भी काम हो रहे हैं। छपरा मेडिकल कॉलेज का निर्माण होना है। उन्होंने कहा, ‘‘ हर एक व्यक्ति को बुनियादी नागरिक सुविधाएं दिलाने का हमारा संकल्प है, लक्ष्य है और निश्चय है।'

ये भी पढ़ें- ''लालू जी भाजपा के साथ हाथ मिला लेते, तो चारा घोटाला भाईचारा बन जाता''

उन्होंने कहा कि इसके साथ-साथ सामाजिक कुरीतियों से छुटकारा मिल जाए तो लोगों को विकास का सही लाभ मिलने लगेगा। एकमा को अनुमंडल बनाने की मांग पर मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रखंड, अनुमंडल, जिला, कमिश्नरी, इन सबके गठन के लिए कैबिनेट की एक कमेटी बनाई गई है, जो एक-एक पहलू पर विचार करके अपना निर्णय देगी।

Next Story
Top