Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

छठ पूजा पर गंगा नदी के किनारे मुस्लिम महिलाएं जुटी साफ-सफाई में, पेश की मिसाल

गंगा नदी के घाटों और सड़कों पर मुस्लिम महिलाएं इस पर्व पर साफ-सफाई करती नजर आईं।

छठ पूजा पर गंगा नदी के किनारे मुस्लिम महिलाएं जुटी साफ-सफाई में, पेश की मिसाल

बिहार में छठ पूजा की शुरूआत मंगलवार से हो चुकी है। इस दौरान गंगा नदी के किनारों पर मुस्लिम महिलाएं इस पर्व पर साफ-सफाई करती नजर आईं। छठ पूजा के अवसर पर लोग घाटों की सफाई करते हैं।

पटना में गंगा के किनार घाटों और सड़कों पर मुस्लिम महिलाओं साफ करने में लगी हुई हैं। इन महिलाओं ने सिर्फ घाटों पर ही नहीं बल्कि सड़कों की भी साफ सफाई की।

इसे भी पढ़ें: छठ पर्व 2017: छठ व्रत की ये है मान्यता और सावधानियां

इन महिलाओं ने पूरे घाट की सफाई की और अर्ध्य वाले स्थान को पूरी तरह साफ किया। उनकी इस निष्ठा को देखकर स्थानीय लोग भी उनकी काफी सराहना कर रहे हैं। छठ पूजा के लिए श्रद्धालुओं में अभी से उत्साह दिख रहा है।

जानें छठ पूजा के बारे में

छठ त्‍योहार एक साल में दो बार मनाया जाता है। पहली बार चैत्र महीने में और दूसरी बार कार्तिक महीने में मनाया जाता है। हिन्दू पंचांग के मुताबिक, चैत्र शुक्लपक्ष की षष्ठी पर मनाए जाने वाले छठ त्‍योहार को चैती छठ कहा जाता है।

जबकि कार्तिक शुक्लपक्ष की षष्ठी पर मनाए जाने वाले इस पर्व को कार्तिकी छठ कहा जाता है। बिहार और उत्तर प्रदेश में ये पर्व काफी लोकप्रिय है। इस त्‍योहार को यहां पर पारिवारिक सुख-समृद्धि और मनोवांछित फल-प्राप्ति के लिए मनाया जाता है।

भगवान राम ने भी की थी पूजा

सबसे पहले भगवान राम ने छठ मैया की पूजा की थी। लंका के जीतकर आने के बाद उन्होंने अयोध्या में कुलदेवता सूर्य भगवान की पूजा की थी। सीता माता ने इसके लिए व्रत भी रखा था और सरयू नदी में डूबते सूर्य को अर्घ्य दिया था।

Next Story
Top