Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Chamki Bukhar Live: चमकी बुखार से अब तक 128 बच्चों की मौत

बिहार में सुशासन की बात करने वाले मुख्यमंत्री नितिश कुमार के दौरे के बाद भी चमकी बुखार या इंसेफेलाइटिस से मरने वाले बच्चों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। मंगलवार शाम तक मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से 113 बच्चों की मौत हो चुकी है।

Chamki Fever BiharChamki Fever Bihar

बिहार में सुशासन की बात करने वाले मुख्यमंत्री नितिश कुमार के दौरे के बाद भी चमकी बुखार या इंसेफेलाइटिस से मरने वाले बच्चों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। मंगलवार शाम तक मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से 113 बच्चों की मौत हो चुकी है और अभी भी 450 से ज्यादा बच्चे अस्पताल में भर्ती हैं। जिनका इलाज किया जा रहा है। सीएम नीतीश कुमार ने अस्पतालों का दौरा करने के बाद कुछ जरूरी निर्देश दिए। उन्होंने अस्पताल में बेड़ों की संख्या बढ़ाने और परिजनों-रिश्तेदारों के रुकने के लिए भी जरूरी इंतेजाम करने के आदेश दिए। बीते एक सप्ताह से केंद्रीय मंत्रियों से लेकर राज्य के मंत्री दौरा कर रहे हैं और बच्चों की मौत पर बयानबाजी कर रहे हैं।

लाइन अपडेट (Live Update) -

बिहार एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम (आईडीएसपी) के मुताबिक एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) के कारण बिहार में मौत का आंकड़ा 128 हो गया है।

आज चमकी बुखार से 4 बच्चों की मौत के बाद यह आंकड़ा 113 पहुंच गया है...

सबसे ज्यादा एसकेएमसीएच अस्पताल और केजरीवाल अस्पताल में बच्चों की मौत हो रही है

आज बुधवार सुबह तक 112 बच्चों की चमकी बुखार की वजह से मौत हो चुकी है।

बिहार के अलावा झारखंड में भी चमकी बुखार को लेकर अलर्ट

चमकी बुखार को लेकर मुजफ्फरपुर और आस पास के इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया है

पिछले 24 घंटों के अंदर मेडिकल कॉलेज में 75 नए बच्चे भर्ती हुए

चमकी बुखार से मरने वाले बच्चों की संख्या मंगलवार को बढ़कर 111 हो गई

सीएम नीतीश कुमार ने किया था दौरा

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुजफ्फरपुर जिले के एक अस्पताल का दौरा किया और इस दौरान उन्हें नाराज लोगों द्वारा की गई नारेबाजी का सामना करना पड़ा। एसकेएमसीएच अस्पताल और केजरीवाल अस्पताल में मरने वालों की संख्या 110 हो गई है जबकि पड़ोसी पूर्वी चंपारण जिले में एक बच्चे की जान गई है।

वैसे एईएस के ज्यादातर मामले मुजफ्फरपुर में सामने आए हैं लेकिन पड़ोस के पूर्वी चंपारण और वैशाली जैसे जिलों में भी इस तरह के मामलों की खबर है।

इससे पहले, मुजफ्फरपुर के सिविल सर्जन डॉ. शैलेश प्रसाद ने बताया था कि मंगलवार देर शाम तक एईएस (चमकी बुखार) से मरने वाले बच्चों की संख्या 109 हो गयी है, जिनमें से श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज अस्पताल (एसकेएमसीएच) में 90 बच्चों और केजरीवाल अस्पताल में 19 बच्चों की मौत हुई है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को एसकेएमसीएच पहुंचकर हालात का जायजा लिया। उन्होंने अधिकारियों और चिकित्सकों के साथ बैठक की तथा कई आवश्यक निर्देश दिए।

Share it
Top