Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Chamki Bukhar Live: चमकी के अबतक 152 बच्चों की मौत, SC ने जताई चिंता, केंद्र व राज्य सरकारों से एक हफ्ते के भीतर मांगा जवाब

बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार यानी एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है। राज्य में अब तक 152 बच्चों की मौत हो चुकी है। लेकिन अभी तक इस बीमारी से लड़ने का तोड़ नहीं मिल रहा है। इसी हाहाकार के बीच आज चमकी बुखार को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका पर सुनवाई होगी।

Chamki Bukhar Live: सुप्रीम कोर्ट आज करेगा सुनवाई, अबतक 152 बच्चों की मौतChamki fever live update

बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार यानी एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है। राज्य में अब तक 152 बच्चों की मौत हो चुकी है। लेकिन अभी तक इस बीमारी से लड़ने का तोड़ नहीं मिल रहा है। इसी हाहाकार के बीच आज चमकी बुखार को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका पर सुनवाई होगी।

मुजफ्फरपुर में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (AES) से पीड़ित बच्चों के इलाज के लिए सुप्रीम कोर्ट ने (SC), केंद्र सरकार, बिहार और उत्तर प्रदेश को नोटिस जारी कर 7 दिनों के भीतर हलफनामा दाखिल करने को कहा है, जिसमें सार्वजनिक स्वास्थ्य, पोषण और स्वच्छता से जुड़ी सुविधाओं का विवरण दिया गया है।

सुप्रीम कोर्ट में मुजफ्फरपुर में हो रही बच्चों की मौत को लेकर दो याचिका दायर की गई थी। जिसमें कोर्ट से याचिका में कहा गया है कि मेडिकल सुविधा बढ़ाने का आदेश दिया जाए और केंद्र सरकार की तरफ से टीम भेजी जाए। इसके अलावा मोबाइल एंबुलेंस की सुविधा बढ़ाई जाए। इस मामले में राज्य और केंद्र सरकार हस्तक्षेप करें।

जानकारी के लिए बता दें कि बिहार के मुजफ्फरपुर में बीते एक महीने के अंदर ही सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं। इसमें श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (SKMCH) में अबतक 128 की मौत हो चुकी है। वहीं केजरीवाल अस्पताल में भी लगातार बच्चे मर रहे हैं।

बिहार में इस बीमारी से हो रही मौत पर नीतीश सरकार चुप्पी साधे हुए हैं। हर दिन राज्य सरकार के मंत्रियों से लेकर केंद्र के मंत्री दौरा कर रहे हैं लेकिन अभी तक इस बीमारी से कैसे लड़ा जाए इसको लेकर टीम काम कर रही हैं। सीएम नीतीश और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन भी यहां के अस्पतालों का दौरा कर चुके हैं।

Share it
Top