Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शेल्टर होम मामलाः बिहार की पूर्व मंत्री के आवासों समेत चार जिलों में सीबीआई छापे

मुजफ्फरपुर आश्रय-गृह यौन शोषण मामले में सीबीआई ने बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के पटना तथा बेगूसराय स्थित आवासों सहित चार जिलों में लगभग एक दर्जन संपत्तियों पर छापेमारी की।

शेल्टर होम मामलाः बिहार की पूर्व मंत्री के आवासों समेत चार जिलों में सीबीआई छापे
X

मुजफ्फरपुर आश्रय-गृह यौन शोषण मामले में सीबीआई ने बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के पटना तथा बेगूसराय स्थित आवासों सहित चार जिलों में लगभग एक दर्जन संपत्तियों पर छापेमारी की।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि पटना, मुजफ्फरपुर, बेगूसराय तथा मोतिहारी में छापे मारे गए। ये छापे सुबह करीब साढ़े सात बजे शुरू हुए और दोपहर करीब ढाई बजे तक चले।
अधिकारियों ने कहा कि पूर्व मंत्री के पटना आवास के अलावा सीबीआई ने मुजफ्फरपुर में कई स्थानों पर छापेमारी की।
अधिकारियों ने मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के मित्रों और रिश्तेदारों के परिसरों की भी तलाशी ली। सूत्रों के अनुसार पटना के स्ट्रैंड रोड स्थित मंजू वर्मा के सरकारी बंगले में छापेमारी के दौरान सीबीआई अधिकारियों ने उनसे तथा उनके पति चंदेश्वर वर्मा से पूछताछ की।
समझा जाता है कि एजेंसी ने मंजू वर्मा के निजी सचिन अमरेश कुमार तथा उनकी पत्नी पूनम कुमारी को समन किया तथा पूछताछ की। बाद में उन्हें और पूछताछ के लिए किसी अज्ञात स्थान पर ले गयी।
केंद्रीय जांच एजेंसी ने ठाकुर के एनजीओ की गतिविधियों से करीब से जुड़ी रही मधु कुमारी के घर पर भी छापेमारी की। वह फरार है। एजेंसी ने मुजफ्फरपुर जिले के पंचडाहा गांव स्थित ठाकुर के पैतृक आवास पर भी छापा मारा।
मंजू वर्मा ने यह खुलासा होने के बाद कि उनके पति से ठाकुर ने इस साल जनवरी से लेकर जून तक 17 बार बात की थी, समाज कल्याण मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था। एजेंसी ने बेगूसराय के चेरिया बरियारपुर स्थित उनकी ससुराल के घर पर भी छापेमारी की।
मंजू वर्मा चेरिया बरियारपुर विधानसभा क्षेत्र से ही विधायक हैं।
पटना में अन्य जिन स्थानों पर छापेमारी की गई, उनमें बुद्ध मार्ग स्थित ठाकुर के हिन्दी दैनिक ‘प्रात: कमल' का कार्यालय और समाज कल्याण विभाग से जुड़े एक काउंसलर का पाटलिपुत्र कॉलोनी स्थित घर भी शामिल है।
लगभग दो महीने पहले यौन शोषण का मामला सामने आने के बाद विपक्षी दलों ने सीबीआई जांच और उच्च न्यायालय से इसकी निगरानी कराए जाने की मांग की थी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story