Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बिहार का यह गांव है IIT हब, अब तक 300 इंजीनियर

जितेंद्र इस गांव के हर युवा के लिए रोल मॉडल बन चुके हैं।

बिहार का यह गांव है   IIT हब, अब तक 300 इंजीनियर
बिहार के गया जिले का पटवा टोली गांव से करीब 15 छात्रों ने IIT इंट्रेंस एग्जाम में बड़ी सफलता प्राप्त की है। किसी भी गांव से एक साथ इतने स्टूडेंट का IIT परीक्षा में चयनित होना हैरानी वाली बात है।
अत्याधुनिक सुविधाओं से दूर इस गांव के अंदर ही लोगों ने ऐसी व्यवस्था बनाई है, जिससे गांव के छात्र न सिर्फ IIT, बल्कि दूसरे कई इंजीनियरिंग कॉलेजों में सफलता दर्ज कराने में सफल रहे हैं।
इस गांव की ये स्वर्णिम कहानी शुरु हुई 1992 में जब एक बुनकर के बेटे जितेंद्र सिंह ने IIT पास कर IIT मुंबई में एडमिशन लिया। जिसके बाद तो जितेंद्र अपने गांव के हर युवा के रोल मॉडल बन गए।
जितेंद्र से प्रेरणा ग्रहण कर के गांव के कई बच्चों ने IIT की न केवल तैयारी की बल्कि सफलता भी पाई। तब से ये सिलसिला बदस्तूर जारी है और अब तक पटवा टोली के करीब 300 से ज्यादा बच्चों ने IIT में कामयाबी पाई है और कई तो मल्टीनेशनल कंपनियों में कार्यरत भी हैं।
जितेंद्र अपने गांव के बच्चों को पाठ्य सामग्री से लेकर हर तरह के संसाधन तो उपलब्ध कराते ही हैं, इसके साथ ही वो उन्हें IIT में सफलता प्राप्त करने के टिप्स भी देते रहते हैं।
Next Story
Top