Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सुकमा शहीद की पत्नी को मिला चेक, बाउंस

सरकारी सहायता के भुगतान में की गई देरी पर डीएम ने संज्ञान लेते हुए ब्रांच मैनेजर के खिलाफ कार्रवाई शुरू की है।

सुकमा शहीद की पत्नी को मिला चेक, बाउंस

सुकमा में शहीद जवान रंजीत कुमार के परिजनों को बिहार सरकार की ओर से मिले सहायता राशि का चेक बाउंस हो गया। यह एचडीएफसी बैंक का पांच लाख का चेक था। मीडिया में यह खबर आने के बाद आनन-फानन में आरटीजीएस के माध्यम से शहीद की विधवा के बैंक खाते में पैसा ट्रांसफर किया गया।

दरअसल, सुकमा में नक्सली हमले में शहीद हुए जिले के सपूत रंजीत यादव के आश्रित को सरकार द्वारा दिए गए पांच लाख रुपए की सहायता राशि खाते में नहीं आई। राज्य सरकार द्वारा सीआरपीएफ जवान रंजीत की विधवा पत्नी सुनीता देवी को पांच लाख का यह चेक जिला प्रशासन ने दिया था।

चेक दिए जाने के लगभग एक पखवाड़े के बाद भी चेक की राशि लाभुक के खाते में नहीं जा सकी है। बताया गया कि चेक बाउंस कर गया है। इस खबर के मीडिया में आने के बाद पूरे प्रशासनिक महकमें में हड़कंप मच गया।

जिला प्रशासन द्वारा दिया गया यह चेक बैंकिंग सेवा की तकनीकी पेंच में फंस गया है। शहीद जवान के परिवार वालों ने बताया कि यह चेक एचडीएफसी बैंक का था। जबकि लाभुक का बैंक अकाउंट एसबीआई में है।

बैंक के सूत्र ने बताया कि लाभुक में पांच लाख का यह चेक अलीगंज (जमुई) की शाखा में जमा किया था। वहां से यह चेक क्लीयरेंस के लिए पटना भेजा गया। उसे पटना से एचडीएफसी की शेखपुरा शाखा में आना था। बताया गया कि चेक क्लीयरेंस के लिए पटना से शेखपुरा भेजने के क्रम में यह तकनीकी पेंच फंस गया।

आनन-फानन में सुकमा में शहीद हुए रंजीत यादव की पत्नी सुनीता के खाते में पांच लाख की सरकारी सहायता की राशि डाल दी गई है। जिला प्रशासन की तरफ से इसकी आधिकारिक जानकारी अपर समाहर्ता डॉ. जवाहर लाल सिन्हा ने दी।

इधर एचडीएफसी बैंक के स्थानीय प्रबंधक अमित कुमार ने भी बताया की लाभुक के खाते में पांच लाख रुपये की सरकारी सहायता की राशि स्थानांतरित कर दी गई है।

फंसे ब्रांच मैनेजर

एचडीएफसी के स्थानीय ब्रांच मैनेजर अमित कुमार की गर्दन फंस गई है। सरकारी सहायता के भुगतान में की गई देरी पर डीएम ने संज्ञान लेते हुए ब्रांच मैनेजर के खिलाफ कार्रवाई शुरू की है।

इस बाबत लिखित विज्ञप्ति जारी करके डीएम दिनेश कुमार ने बताया कि शहीद की विधवा के खाते में पांच लाख की राशि ट्रांसफर करने में जो भी विलंब हुआ है उसके लिए एचडीएफसी के मैनेजर दोषी है।

मामले पर सुकमा अपर कलेक्टर डॉ. जवाहर लाल सिन्हा ने कहा कि शहीद की विधवा को सरकार द्वारा दिए गए पांच लाख की सहायता राशि लाभुक के खाते में भेजने में जो भी बिलंव हुआ वह एचडीएफसी बैंक की वजह से हुआ।

Next Story
Top