Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bihar Election 2020: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिट्टी चोखा खाने पर मचा बवाल, बिहार के नेताओं ने किए तीखे कमेंट्स

Bihar Election 2020: नरेंद्र मोदी दिन के करीब डेढ़ बजे दिल्ली के हुनर हाट में पहुंचे। लगभग 50 मिनट में उन्होंनेे अलग-अलग स्टॉल पर जाकर उत्पादों को देखा और उनके बारे में जानकारी ली।

Bihar Election 2020: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिट्टी चोखा खाने पर मचा बवाल, बिहार के नेताओं ने किए तीखे कमेंटBihar Election 2020: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिट्टी चोखा खाने पर मचा बवाल, बिहार के नेताओं ने किए तीखे कमेंट

Bihar Election 2020: दिल्ली चुनाव के बाद अब राजनीतिक पार्टियों की नजर बिहार चुनाव पर है। बिहार विधानसभा की अवधि 29 नवंबर 2020 को समाप्त होने वाली है। अक्टूबर 2020 में चुनाव होने की संभावना जताई जा रही है। जिसके लिए अभी से ही नेताओं के बीच तंज कसने का दौर शुरु हो चुका है।

अभी हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के हुनर हाट में लिट्टी-चोखा खाया और इसकी तस्वीरें भी लोगों से साझा की। लिट्टी-चोखा बिहार का प्रमुख भोजन है। दिल्ली में बीजेपी की हार के बाद नरेंद्र मोदी के लिट्टी-चोखा खाने में नेताओं को राजनीति नजर आ रही है। उनका कहना है कि नरेंद्र मोदी अभी से ही बिहार चुनाव की तैयारी में लग गए हैं। प्रधानमंत्री के द्वारा लिट्टी-चोखा खाने के बाद आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद के बेटे तेजप्रताप यादव नें पीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीर पर कमेंट करते हुए लिखा कि कितना भी लिट्टी-चोखा खा लो, लेकिन बिहार कभी धोखे को नहीं भूल सकती।

तेजस्वी यादव ने भी किए कमेंट

इसके साथ ही बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव भी कमेंट करने में पीछे नहीं रहे। उन्होंने लिखा कि आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बिहार का प्रसिद्ध खाना पसंद करने के लिए धन्यवाद। चूंकि बिहार के मुख्यमंत्री मांग नहीं सकते इसलिए मैं आपका ध्यान बिहार के हिस्से के लिए उन चीजों पर लाना चाहता हूं जो बहुत समय से पेंडिंग पड़ा है विशेष दर्जा, विशेष पैकेज के लिए फंड, बाढ़ राहत कोष और आयुष्मान भारत के लिए फंड।

संजय कुमार झा ने की नरेंद्र मोदी की तारीफ

वहीं दूसरी तरफ जदयू के नेता संजय कुमार झा ने नरेंद्र मोदी की तारीफ की। उन्होंने लिखा कि प्रिय नरेंद्र मोदी जी आपको इंडिया गेट के हुनर हाट पर लिट्टी-चोखा खाते हुए देखना बेहद अच्छा है। बिहार में लाखों लोगों के लिए यह व्यंजन सादगी विनम्रता और जमीन से जुड़ने का पर्याय है। यह हमारी महान पाक परंपरा और हमारे गौरव का हिस्सा भी है।


Next Story
Top