Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

चमकी बुखार पर रार: मंगल पांडे के इस्तीफे पर अड़े सीएम नीतीश, भाजपा दे रही चुनौती

बिहार के मुजफ्फरपुर में फैले चमकी बुखार से मरने वाले बच्चों की मौत को रोकने में फिलहाल स्वास्थ्य विभाग सफल होता दिख रहा है पर अब इस मुद्दे पर सियासत गरमा रही है। इस सियासी खेल में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शामिल हैं। सूत्रों के हवाले से खबर मिली है कि इस घटना से हुई किरकिरी के बाद उन्होंने प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे से इस्तीफा मांगा जिसके बाद पार्टी दो भागों में बंट गई। भाजपा जहां मंगल पांडे के साथ खड़ा है वहीं जदयू उनके विरोध में।

चमकी बुखार पर रार: मंगल पांडे के इस्तीफे पर अड़े सीएम नीतीश, भाजपा दे रही चुनौतीBihar cm nitish kumar wants resignation of health minister mangal pandey over chamki bukhar chanki fever

बिहार के मुजफ्फरपुर में फैले चमकी बुखार से मरने वाले बच्चों की मौत को रोकने में फिलहाल स्वास्थ्य विभाग सफल होता दिख रहा है पर अब इस मुद्दे पर सियासत गरमा रही है। इस सियासी खेल में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शामिल हैं। सूत्रों के हवाले से खबर मिली है कि इस घटना से हुई किरकिरी के बाद उन्होंने प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे से इस्तीफा मांगा जिसके बाद पार्टी दो भागों में बंट गई। भाजपा जहां मंगल पांडे के साथ खड़ा है वहीं जदयू उनके विरोध में।

नीतीश कुमार मंगल पांडे से इस्तीफा मांगकर राज्य के साथ देश भर में हो रही किरकिरी से बचना चाहते हैं साथ ही अपने सॉफ्ट पोलिटिकल स्टंट के दम पर ये संदेश देना चाहते हैं कि पार्टी लापरवाही बरतने वालों को माफ नहीं करेगी। पर मंगल पांडे को लगता है कि इस मामले में उन्हें बलि का बकरा बनाया जा रहा है। इसमें भाजपा के नेता आगे आकर मंगल पांडे के साथ खड़ी हो गई है वह सुशासन बाबू से बगावत करने के लिए भी तैयार हैं।


मंगल पांडे का राजनीतिक रसूख बिहार में बड़ा है। वह प्रदेश के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी के भी करीबी माने जाते हैं। प्रदेश के साथ साथ राष्ट्रीय स्तर पर भी उनका कद पार्टी में बड़ा है उनकी पहचान एक सशक्त संगठनकर्ता के रूप में भी है। उन्होंने इसका सबूत झारखंड और हिमाचल प्रदेश का चुनाव प्रभारी होते हुए पार्टी को बड़ी जीत दिलाकर दिया। इसी कारण भाजपा आलाकमान भी उन्हें इस्तीफे के लिए दबाव नहीं बना रहा।

वहीं नीतीश जबरन नहीं बल्कि नैतिकता के आधार पर मंगल पांडे पर इस्तीफे का दबाव बना रहे हैं। प्रदेश में हुई करीब 150 से ज्यादा मौतों पर भी अभी तक किसी मंत्री या नेता का इस्तीफा नहीं हुआ है। इस कारण नीतीश के ऊपर और सवाल खड़े हो रहे हैं। ऐसे समय में जब गठबंधन का दूसरा दल एकदम अलग खड़ा है तो सवाल ये भी उठता है कि क्या बिहार के सीएम मंगल पांडे को इस्तीफा देने पर मजबूर करवाएंगे?

कहा जा रहा है कि नीतीश कुमार ने मंगल पांडे से कह दिया है कि अभी मामला ताजा है इसलिए वह इस्तीफा दें बाद में उन्हें कहीं एडजस्ट कर लिया। पर प्रदेश में भाजपा आलाकमान अपने नेता की बनी साख पर किसी तरह का आघात नहीं लगने देना चाहती। इसलिए ये सवाल अभी भी बना है कि क्या नीतीश प्रदेश में चमकी बुखार से हो रही मौत पर इतने कमजोर हो गए कि एक मंत्री को कैबिनेट से बाहर नहीं कर पाए? फिलहाल इसपर जल्द ही फैसला आने की उम्मीद है।

Share it
Top