Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बुआ और भतीजे का इश्क चढ़ा परवान, लेकिन नहीं पता था इतना खौफनाक होगा अंजाम

बिहार मानवाधिकार आयोग ने भागलपुर के एक गांव में पंचायत लगाकर हुई हिमांशु की हत्या मामले में रिपोर्ट मांगी है।

बुआ और भतीजे का इश्क चढ़ा परवान, लेकिन नहीं पता था इतना खौफनाक होगा अंजाम

बिहार मानवाधिकार आयोग ने भागलपुर के एक गांव में पंचायत लगाकर हुई हिमांशु की हत्या मामले में रिपोर्ट मांगी है। पिछले साल 5 जून को लड़की के घरवालों ने हिमांशु नाम के एक युवक की हत्या कर दी थी।

जानकारी के मुताबिक, हिमांशु और रिश्ते में उसकी बुआ एक-दूसरे से प्यार करते थे। प्रेम-प्रसंग के चलते दोनों ने घर से भागकर शादी कर ली थी। इस मामले को लेकर गांव में पंचायत बैठी और उसमें हिमांशु की हत्या का फरमान सुनाया गया।

यह भी पढ़ें- दुनियाभर में वेश्यावृत्ति के लिए मशहूर है ये शहर, जिस्मफरोशी के साथ होते है कई गैर-कानूनी धंधे

इस मामले से जुड़े एक आरोपी अजब लाल की बेटी अनुष्ठा ने बिहार मानवाधिकार को पत्र लिख कर कई बिंदुओं पर सवाल उठाया था। जिसके बाद इस मामले पर आयोग ने SSP से रिपोर्ट मांगी है। एसएसपी ने महिला की पत्र की जांच के लिए सिटी डीएसपी को जिम्मेदारी सौंपी है।

हत्या के बाद से गायब है मृतक की पत्नी

ये मामला हिमांशु की मां जेलस देवी की तहरीर पर थाने में दर्ज हुआ था। इस मामले की जांच रिपोर्ट में आया है इसमें 21 आरोपी शामिल हैं, जिसमें से एक अजब लाल भी है। अजब लाल ने मामला सामने आने के बाद कोर्ट में सरेंडर कर दिया था।

हिमांशु के मर्डर के बाद से ही उसकी पत्नी सोनी भी गायब है। मृतक के परिजनों का कहना है कि हिमांशु की पत्नी सोनी को उसके घरवालों ने मार डाला है और उसकी लाश को ठिकाने लगा दिया है। पुलिस ने इस मामले में अपना पूरा जोर लगा दिया लेकिन कुछ पता नहीं चल पाया। अब ये मामला ऑनर किलिंग की ओर जा रहा है।

ये है पूरा मामला

मृतक हिमांशु का रिश्ते में उसकी बुआ लगने वाली सोनी कुमारी से अफेयर था। जिसके चलते दोनों घर से भाग गए थे। बेटी के घर से गायब होने पर पिता परमानंद ने हिमांशु के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कराया। इस केस में हिमांशु समेत के परिवार के अन्य लोगों को भी आरोपी बनाया गया था।

यह भी पढ़ें- इस शख्स ने मिनटों में बनाए 8 हजार से 21 करोड़ रुपए, जानिए कैसे

घर से भागने के बाद हिमांशु और सोनी अप्रैल 2017 में वापस घर लौटे। जिसके बाद दोनों ने सहमति से शादी कर ली। रिश्तेदारी में बेटी का शादी करना पिता को नागवार गुजरा, जिसके बाद 5 जू को मामला पंचायत में पहुंचा। पंचायत ने मामला सुनने के बाद हिमांशु की हत्या का फरमान सुनाया, जिसके बाद लोगों ने गोली-पिस्तौल, लाठी-डंडे से उस पर हमला कर दिया।

Next Story
Top