Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बिहार के युवाओं में तेजी से पैर पसार रहा एड्स, जांच में HIV पॉजिटिव पाए गए 1050 युवा

इस बीमारी के चपेट में आ रहे हैं। एक ताजा रिपोर्ट के मुताबिक पिछले एक साल के आंकड़ों पर गौर करें तो यह चौंकाने वाला है। एड्स के प्रति जागरूकता पर काम न हुआ आने वाले दिनों में यह स्थिति भयावह बन सकती है।

बिहार के युवाओं में तेजी से पैर पसार रहा एड्स, जांच में HIV पॉजिटिव पाए गए 1050 युवाAIDS Is Spreading Rapidly in Bihars 1050 youth found HIV Positive

इस बीमारी के चपेट में आ रहे हैं। एक ताजा रिपोर्ट के मुताबिक पिछले एक साल के आंकड़ों पर गौर करें तो यह चौंकाने वाला है। एड्स के प्रति जागरूकता पर काम न हुआ आने वाले दिनों में यह स्थिति भयावह बन सकती है।

बिहार स्टेट एड्स कंट्रोल सोसायटी के आंकड़ों की माने तो एड्स की जांच कराने वालों में युवाओं में से एक फसीदी युवा एचआईवी पॉजिटिव पाए गए। 2018-19 के दौरान 1.38 लाख युवाओं की जांच की गई, इसमें से 1050 एचआईवी प्रभावित थे।



इस रिपोर्ट की माने तो रोजगार और अन्य कारणों से सूबे से बाहर दूसरे प्रदेशों में गए युवा एड्स से ग्रसित पाए गए। इनमें विभिन्न राज्यों में मजदूरी करने वाले युवा भी शामिल हैं। इससे भी ज्यादा चिंता वाली बात यह है कि इस बीमारी से ग्रसित व्यक्ति की पत्नी और बच्चों को भी यह बीमारी हो गई।

बिहार स्टेट एड्स कंट्रोल सोसायटी की ओर से इस पर स्टडी की गई। जिसके मुताबिक अधिकांश युवा ही इसकी चपेट आए हैं। इसका प्रमुख कारण नशा और असुरक्षित यौन संबंधन पाया गया। स्टडी के मुताबिक जागरूकता का नहीं होना, किशोरावस्था में ही असुरक्षित यौन संबंध बनाना और नशे के लिए लगाई जाने वाली सुई प्रमुख कारण हैं। इसके साथ बीमारी को लेकर युवाओं में अज्ञानता और गलतफहमी एक मुख्य कारण है।



आंकड़ों की माने तो 1.38 लाख युवाओं में से 1050 में एड्स से प्रभावित पाए गए। डॉक्टर्स ने 32.48 लाख गर्भवती महिलाओं की भी जांच की, इसमें से से 689 एचआईवी पॉजिटिव पाई गईं। इसके अलावा 6.94 लाख अन्य वर्ग के लोगों में से 11 हजार इस बीमारी की चपेट में हैं। रिपोर्ट में आशंका जताई गई हैं कि अगर इस बीमारी के प्रति युवाओं में जागरूकता नहीं आई तो यह धीरे-धीरे भयावह रूप ले सकती है।

Next Story
Top