Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अलविदा 2018 : ये तीन युवतियां भारत की पहली महिला फाइटर पायलट बनीं

अवनि चतुर्वेदी ने अकेले मिग-21 फाइटर प्लेन उड़ाकर इतिहास रचा। भावना और मोहना, हमारी भावी पीढ़ी की बेटियों के लिए मिसाल बन गई हैं।

अलविदा 2018 : ये तीन युवतियां भारत की पहली महिला फाइटर पायलट बनीं
X

नया साल 2019 (New Year 2019) आने में कुछ ही दिन बाकी है। 2017 में महिलाओं ने भारत को नई बुलंदियों पर ले जाने के लिए जीतोड़ महनत की और उसी तरह भारतीय महिलाओं का सफलता का परचम लहराने का यह सिलसिला 2018 में भी जारी रहा। इस साल छोटे कस्बे और शहरों से आने वाली आधी आबादी ने धरती पर ही नहीं आसमान पर भी भारत का नाम रौशन किया, आज हम चर्चा करेंगे उन तीन महिलाओं की जिन्होंने आसमान में भारत के लिए नया मुकाम हासिल किया...

बनीं लड़ाकू विमान की पायलट

वह दिन कौन भूल सकता है, जब छोटे कस्बे और शहरों से ताल्लुक रखने वाली तीन युवतियां देश की महिला फाइटर पायलट बनीं। अवनि उन्हीं में से एक हैं। अवनि चतुर्वेदी ने अकेले मिग-21 फाइटर प्लेन उड़ाकर इतिहास रचा। 19 फरवरी 2018 को सुबह अवनि ने गुजरात के जामनगर एयरबेस से उड़ान भरी और सफलता पूर्वक अपना मिशन पूरा किया। वह अकेले फाइटर एयरक्राफ्ट उड़ाने वाली भारत की पहली महिला बन गई हैं। एक फाइटर पायलट की तरह युद्ध की स्थिति में अवनि सुखोई जैसे विमान भी उड़ा सकती हैं। साल 2016 में अवनि के साथ-साथ भावना कांत और मोहना सिंह को इस काम के लिए चुना गया था। बीते एक साल तक तीनों फाइटर पायलट की ट्रेनिंग दी गई। 2016 के पहले भारतीय वायुसेना में महिलाओं को फाइटर प्लेन चलाने की अनुमति नहीं थी। लेकिन अनुमति मिलने के दो साल बाद ही अवनि ने पहली महिला फाइटर पायलट होने का गौरव प्राप्त कर लिया। अवनि, भावना और मोहना, हमारी भावी पीढ़ी की बेटियों के लिए मिसाल बन गई हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story