Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अब आप भी अपने फोन को हवा से कर सकेंगे चार्ज, जानें कैसे

Smartphones Wireless Charging Process वायरलेस चार्जिंग (Wireless Charging) इस समय लोगों के बीच बहुत लोकप्रिय है। साथ ही लोग इस तकनीक के माध्यम से अपने स्मार्टफोन (Smartphone) को चार्ज कर सकते हैं। अब एक ऐसी तकनीक पेश होने वाली है, जिससे फोन हवा में ही चार्ज हो जाएगा। तो चलिए जानते हैं नीचे इस तकनीक के बारे में......

अब आप भी अपने फोन को हवा से कर सकेंगे चार्ज, जानें कैसे

अब स्मार्टफोन्स (Smartphone) इतने स्मार्ट हो गए हैं कि इन डिवाइसेज में हर एक काम किया जा सकता है। वहीं, स्मार्टफोन निर्माता कंपनियां भी अपने गैजेट्स में शानदार फीचर्स दिए हैं, जिससे यूजर्स बेहतर फोटो क्लिक, ऑफिस के लिए पीडीएफ तैयार करना और बड़े साइज की फाइल को स्टोर करने जैसे काम को आसानी से कर सकते हैं। इस कड़ी में अधिकतर कंपनियों ने अपने प्रीमियम क्लास के स्मार्टफोन्स में वायरलेस चार्जिंग फीचर दिया है। इस फीचर की मदद से यूजर्स आसानी से फोन को कहीं भी चार्ज कर सकते हैं।

वायरलेस चार्जिंग तकनीक ने स्मार्टफोन को अलग पहचान दी है और लोगों ने भी इसको बहुत पसंद किया है। वहीं, यह टेक्नोलॉजी शहर में रहने वाले लोगों के लिए बहुत काम आएगी, जो कि अपने फोन को कहीं भी चार्ज कर सकते हैं। इसमें यूजर्स को किसी केबल या एडाप्टर की जरूरत नहीं पड़ेगी। आपको बता दें कि वायरलेस चार्जिंग फीचर की पहुंच भारत में बहुत कम यूजर्स तक है।

रिपोर्ट से जानकारी मिली है कि अधिकतर टेक कंपनियां अपने लेटेस्ट स्मार्टफोन में वायरलेस चार्जिंग तकनीक दे रही हैं। 2019 की शुरुआत में कंपनियां इस टेक्नोलॉजी को भारी पैमाने पर स्मार्टफोन में दी हैं और अनुमान लगाया जा रहा है की आने वाले समय में भारतीय स्मार्टफोन बाजार में इस तकनीक से लैस स्मार्टफोन को पेश किया जाएगा। रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि वायरलेस चार्जिंग की तकनीक को सुधारने के लिए इसमें प्रगति के कार्य किए जा रहे हैं। अब 50 प्रतिशत से ज्यादा रोजमर्रा के डिवाइज में वायरलेस चार्जिंग की तकनीक को देखा जा सकता है।


सबसे पहले हुवावे ने वायरलेस चार्जिंग तकनीक को हुवावे मेट 20 प्रो स्मार्टफोन के बाद सैमसंग ने गैलेक्सी एस10 और नोट 10 सीरीज के फोन में दी थी। वहीं, इस तकनीक को लेकर मांग बढ़ती जा रही है, जिसको ध्यान में रखकर कंपनियां अपने फ्लैगशिप स्मार्टफोन में दे रही हैं। वही दूसरी ओर एप्पल ने आईफोन 8, आईफोन 8 प्लस, एक्सआर, एक्सएस और एक्सएस मैक्स में इस फीचर को दिया है।

इसके अलावा टेक कंपनियों ने स्मार्ट वॉच में भी वायरलेस चार्चिंग फीचर को दिया है। इसमें एप्पल वॉच, मोटो 360, एलजी वॉच स्टाइल और सैमसंग स्मार्ट वॉच शामिल हैं। साथ ही यह तकनीक टैबलेट और गूगल नेक्स 7 में भी मौजूद हैं।

यह तकनीक ऐसे करती है काम

किसी भी स्मार्टफोन को आसानी से वायरलैस चार्ज किया जा सकता है। यह टेक्नोलॉजी इलेक्ट्रोमैगनेटिग इंडक्शन की वजह से काम करती है। इससे निकलने वाले कण सीधा स्मार्टफोन के बैक में जाते है, जिससे फोन चार्ज होने लगता है। इसके लिए फोन और चार्जर में इंडक्शन कोइल का इस्तेमाल किया जाता है। जब दोनों कॉइल एक-दूसरे को डीडेक्ट करते हैं, तो ये इलेक्ट्रोमैगनेटिग फील्ड पैदा करते हैं। इससे फोन चार्ज हो जाता है। वही दूसरी तरफ कई वायरलेस चार्जर ऐसे हैं, जो दुसरे चार्जर के मुकाबले जल्दी फोन का चार्ज कर देते हैं। ये चार्जर्स मात्र 2 घंटे के भीतर स्मार्टफोन का पूरी तरह से चार्ज कर देते हैं।

वायरलेस चार्जिंग की विशेषताएं

1. स्मार्टफोन को केबल चार्जर के मुकाबले वायरलेस चार्जर से जल्दी चार्ज किया जा सकता है।

2. वायरलेस चार्जर इलेक्ट्रिक फॉल्ट्स से भी स्मार्टफोन को बचाता है।

3. चार्चिंग पैड की मदद से स्मार्टफोन को चार्ज किया जाता है।


हवा में किया जा सकता है फोन चार्ज

आने वाले समय में सभी टेक कंपनियां अपने यूजर्स के लिए क्यूआई (QI) चार्जिंग तकनीक को लेकर आने वाली है। क्यूआई तकनीक की मदद से स्मार्टफोन हवा में ही चार्ज किया जा सकता है। इस चार्जर की मदद से फोन को 45 एमएम दूर फोन को भी चार्ज किया जा सकता है। स्पाईजेन और ऑसिया की टेक कंपनी एक ऐसा मोबाइल कवर बनाने जा रही है, जिससे स्मार्टफोन को हवा में चार्ज किया जा सकता है। कयास लगाएं जा रहे हैं कि इस तकनीक को 2020 में पेश किया जा सकता है।

ऐसे करेगी यह तकनीक काम

क्यूआई टेक्नोलॉजी फोन को हवा में ही चार्ज कर देगी। यह तकनीक कम मात्रा में चार्जिंग कण को फोन तक पहुंचाएगी, जिससे फोन हवा में ही चार्ज होगा। वहीं, इस तकनीक से कम क्षमता वाली बैटरियों को 30 मिनट में चार्ज किया जा सकता है। यह तकनीक ट्रांसमिटर की तरह काम करेगी। यह ट्रांसफर चार्जिंग पावर को रेडियों वेव्स के जरिए डिवाइस में ट्रांसफर करेगा, जिससे फोन आसानी चार्ज हो जाएगा।

Next Story
Share it
Top