Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भूलकर भी इस तरह के मैसेज में ना फंसे, नहीं तो गले पड़ सकती है मुसीबत

जब से स्मार्टफोन (Smartphones) आए हैं, तब से वायरस (Virus) और फेक एप्स (Fake Apps) की संख्या में भी इजाफा हुआ है। वहीं, अब स्मार्टफोन हैक और निजी जानकारी लीक होने की घटनाएं भी बहुत बढ़ गई हैं। एक ऐसा वायरस एप आया है, जो कि पहले यूजर्स को न्यूड फोटो के मैजेस करता है, इस चक्कर में फंसकर डाउनलोड कर लेते हैं। अब हैकर्स इस एप के माध्यम से यूजर्स को ब्लैकमेल करते हैं। आपको बता दें कि स्लोवाकिया की साइबरसिक्योरिटी रिसर्च कंपनी इस फेक का पता लगाया है।

भूलकर भी इस तरह के मैसेज में ना फंसे, नहीं तो गले पड़ सकती है मुसीबत

आज के जमाने में दुनिया की आधी से ज्यादा आबादी स्मार्टफोन (Smartphones) का उपयोग करते हैं और साथ ही हर तरह के काम करते हैं। लोग अपने फोन पर इंटरनेट सर्फिंग करते हैं, जिससे वह थर्ड पार्टी एप या फिर किसी अजान वेबसाइट तक पहुंच जाते हैं। इस स्थिति में लोगों का स्मार्टफोन मैलवेयर और फर्जी एप के निशाने पर आ जाता है। इस तरह की सामग्री के माध्यम से हैकर्स स्मार्टफोन को हैक करते हैं और साथ ही निजी फोटो जैसी चीज़ों को लेकर ब्लैकमेल करते हैं। अब हम आपको ऐसे वायरस की जानकारी देने जा रहे हैं, जिसको आप जानकर हैरान हो जाएंगे।

इसे भी पढ़ें :- Vivo S1 भारत में 32 मेगापिक्सल के साथ हुआ लॉन्च, जानें कीमत और स्पेसिफिकेशन

दरअसल, स्लोवाकिया की एक साइबरसिक्योरिटी रिसर्च कंपनी एक नए और आधुनिक वायरस का पता लगाया है, जो कि सेक्स सिमुलेटर एप के माध्यम से यूजर्स को सेक्सुअल स्पैम मैसेज करता है। इसके जरिए हैकर्स किसी भी फोन को हैक करने के साथ ही यूजर्स को ब्लैकमेल भी कर सकते हैं।

साइबरसिक्योरिटी रिसर्च कंपनी के अनुसार, यह वायरस 12 जुलाई को एक्टिवेट हो गया था और इसके बाद से ही इसने यूजर्स के साथ उनकी लिस्ट पर हमला करना शुरू कर दिया था। यह वायरस एक तरह का एप है, जो कि पूरी तरह सेक्स सिमुलेटर की तरह काम करता है। यह वायरस यूजर्स को आपत्तिजनक मैसेज भेजता है। वहीं, यह एप हिंदी और अंग्रेजी के साथ 42 भाषाओं में मैसेज सेंड कर सकता है। यूजर्स इसका शिकार हो जाते हैं और फिर हैकर्स उन्हें ब्लैकमेल करना शुरू कर देते हैं।

इस मैसेज में यूजर को अपना नाम लिखा दिखाई देगा और साथ ही कुछ तस्वीरें दिखाई देंगी। इसके अलावा एक लिंक दिया होगा। मैसेज में यूजर को कहा जाता है कि उनकी नग्न फोटो लीक हो चुकी हैं और दिए गए लिंक पर देखी जा रही हैं। वहीं, इसमें यूजर्स को चेतावनी भी दी जाती है कि उनकी इमेज कहीं और भी इस्तेमाल की जा रही हैं। इसके बाद कई यूजर्स लिंक पर टैप कर एप को डाउनलोड कर लेते हैं। अब यह एप यूजर्स के फोन को पूरी तरह नुकसान पहुंचाने समेत जानकारी लीक करना शुरू कर देता है।

जैसे ही एप डाउनलोड हो जाता है, तो यह अपने आप यूजर के निजी फोल्डर्स (जिसमें फोटो और वीडियो होती हैं) को इन्सक्रिप्ट करना शुरू करता है। इस प्रक्रिया के पूरा हो जाने के बाद यूजर्स अपने फोल्डर को ओपन नहीं कर पाते हैं। अब हैकर्स यूजर्स को ब्लैकमेल करना शुरू कर देते हैं।

इसे भी पढ़ें :- Flipkart National Shopping Days Sale : इन पांच स्मार्टफोन पर मिल रहा है बड़ा डिस्काउंट, आप भी उठाएं लाभ

आपको बता दें कि अब तक जानकारी नहीं मिली है कि इस वायरस एप ने कितने स्मार्टफोन को अपना निशाना बनाया है। लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि इस वायरस एप को सबसे ज्यादा चीन, अमेरिका और हॉन्ग-कॉन्ग में डाउनलोड में किया गया है।

Next Story
Share it
Top