Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गणतंत्र दिवस 2019 : भारत के इन ब्रह्मास्त्र से थर-थर कांपते हैं चीन और पाकिस्तान, जानें इनकी खासियत

26 जनवरी 2019 को भारतीय गणतंत्र दिवस 2019 (Republic Day 2019) के 70 वर्ष पूरे हो वाले है। 26 जनवरी 1950 को हमारे देश का संविधान लागू हुआ था। भारत का संविधान दुनिया के सबसे बड़े संविधान में से एक है।

गणतंत्र दिवस 2019 : भारत के इन ब्रह्मास्त्र से थर-थर कांपते हैं चीन और पाकिस्तान, जानें इनकी खासियत
X

Republic Day 2019

26 जनवरी 2019 को भारतीय गणतंत्र दिवस 2019 (Republic Day 2019) के 70 वर्ष पूरे हो वाले हैं। 26 जनवरी 1950 को हमारे देश का संविधान लागू हुआ था। भारत का संविधान (The constitution of India) दुनिया के सबसे बड़े संविधान में से एक है। इसके साथ ही इस दिन भारत में अपनी जल, थल और वायू सेना की ताकत को दर्शता है, जिसमें भारतीय सेना के हतियार शामिल होते है। वहीं भारत भी अपनी सेन्य ताकत को बढ़ाने के लिए नए हतियारों की खरीदी कर रहा है, जिसमें गन से लेकर मिसाइल शामिल है। हम आपको बता रहे हैं कि भारत के पांच ऐसे मिसाइल हैं, जिनके एक वार से ही दुशमन को बहुत नुकसान पहुंच सकता है। भारत की इन मिसाइलों के आगे चीन और पाकिस्तान भी फेल है। आइए जानते है इसके बारे में....

गणतंत्र दिवस 2019 : इस वजह से 26 जनवरी पर नहीं मनाया जाता 'संविधान दिवस'

Prithvi Missile

पृथ्वी मिसाइल देश की सबसे ताकतवर मिसाइल में से एक है। इसके साथ ही यह मिसाइल सतह से सतह पर वार करने में सक्षम है और अपने टारगेट को काफी नुकसान पहुंचा सकती है।

इस मिसाइल का वजन 1,000 किलोग्राम है और यह मिसाल 150 किलोमीटर तक लक्ष्य को भेदने की समता रखती है। इस मिसाइल को ट्रांसपोटर इरेक्टर के जरिए ही लॉन्च किया जाता है।

इस मिसाइल को 1994 में डीआरडीओ ने बनाया था। यह मिसाइल देश की सबसे ताकतवर मिसाइल मानी जाती है।

वहीं पृथ्वी मिसाइल तीन वेरियंट है, जिनका नाम पृथ्वी 1, पृथ्वी 2 और पृथ्वी 3 है। तीनों ही वेरियंट बेहद ही शकतीशाली है। वहीं पृथ्वी मिसाइल ने प्राशर मिसाइल की जगह ली थी।

Agni Missile

पृथ्वी मिसाइल के बाद अग्नि मिसाइल भी देश की सबसे पावरफुल मिसाइल में से एक है। अग्नि मिसाइल का नाम अग्नि देवता के नाम पर रखा है, जो आग के देवता है।

यह मिसाइल मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल का हिस्सा है और इस मिसाइल को भारत में 1989 में बनाया गया है। इस मिसाइल की रेंज 700 किलोमीटर से लेकर 900 किलोमीटर तक है और यह मिसाइल अपने लक्ष्य को भेदने में कभी नाकाम नहीं हुई है और इस मिसाइल ने दुश्मनों को भी बहुत नुकसान पहुंचाया है।

भारत ने अग्नि 1 मिसाइल के भी कई वेरियंट पेश किए है, जिसमें अग्नि 2, अग्नि 3, अग्नि 4, अग्नि 5 और अग्नि 6 वेरियंट शामिल है। लेकिन अभी अग्नि 4 और अग्नि 5 की टेस्टिंग चल रही है और अग्नि 6 मिसाइल का काम चल रहा है।

BrahMos Missile

ब्रह्मोस मिसाइल देश की सबसे शकतीशाली मिसाइल है। ब्रह्मोस मिसाइल एक कम दूरी वाली रैमजेट सुपरसॉनिक क्रूज मिसाइल है और यह अपने लक्ष्य को पूरी तरह से तबाह कर देती है।

ब्रह्मोस मिसाइल को जहाज, पनडुब्बी या फिर जमीन से भी छोड़ा जा सकता है। ब्रह्मोस मिसाइल दुनिया की सबसे तेज मिसाइल में से एक है और इस मिसाइल को भारत और रुस ने मिलकर बनया था।

ब्रह्मोस मिसाइल हवा में ही अपना मार्ग बदल देती है और चलते फिरते भी लक्ष्य को भी भेद सकती है।

वहीं यह मिसाइल रडार की पकड़ में भी नहीं आती है और ब्रह्मोस मिसाइल अमेरिका की टॉम हॉक से दुगनी अधिक तेजी से वार करती है।

Dhanush Missile

धनुष मिसाइल देश की सबसे ताकतवर मिसाइल है, इस मिसाइल को शिप लांच बैलिस्टिक मिसाइल भी कहा जाता है। धनुष मिसाइल सतह से सतह पर वार करने में सक्षम है और यह मिसाइल 350 किलोमीटर तक अपने लक्ष्य को भेदने में सक्षम है।

धनुष मिसाइल का वजन 500 से लेकर 1000 किलोग्राम है। धनुष मिसाइल की टेस्टिंग 2012 में आइएनएस सुभरा से छोड़ा गया था।

Republic Day 2019 : गणतंत्र दिवस से जुड़े कुछ तथ्य, बहुत कम जानते हैं लोग

Nag Missile

नाग मिसाइल भारत की तीसरी जेनरेशन की ताकतवर मिसाइल है। नाग मिसाइल को टैंक भेदी मिसाइल भी कहा जाता है, क्योंकि यह मिसाइल अपने लक्ष्य को पूरी तरह से खत्म कर देती है।

नाग मिसाइल को भारत ने ही बनया है और इस मिसाइल का वजन 42 किलोग्राम है। भारत ने नाग मिसाइल के कई वेरियंट शामिल है, जिसमें Namica और HeliNa शामिल है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story