Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

''स्वच्छ ईंधन के लिए इलेक्ट्रिक वाहन के अलावा भी हैं कई विकल्प'': मर्सीडीज बेंज

केंद्र सरकार चाहती है कि 2030 तक देश में केवल इ​लेक्ट्रिक वाहन ही बिकें।

स्वच्छ ईंधन के लिए इलेक्ट्रिक वाहन के अलावा भी हैं कई विकल्प: मर्सीडीज बेंज
X

लग्जरी कार निर्माता मर्सीडीज बेंज ने सरकार से आग्रह किया है कि वह पूरी तरह इलेक्ट्रिक वाहनों को लेकर हड़बड़ी नहीं करे और भावी पीढ़ियो के लिए बेहतर प्रौद्योगिकी विकल्पों पर विचार करे क्योंकि बाकी दुनिया इलेक्ट्रिसिटी नहीं बल्कि हाइड्रोजन पर जोर दे रही है।

इसके साथ ही मर्सीडीज बेंज ने ई-कारों को प्रोत्साहित करने के लिए कम महत्वाकांक्षी योजना अपनाने का आह्वान किया है। उसका कहना है कि वाहन उद्योग का देशव्यापी वैद्युतीकरण वाणिज्यिक व प्रौद्योगिकी रूप से व्यावहारिक नहीं है।

हड़बड़ी भरा है सरकार का फैसला

मर्सीडीज बेंज इंडिया के प्रबंध निदेशक रोलांद फोल्गर ने कहा, ‘2040 तक सारी दुनिया हाइड्रोजन कारें चला रही होगी। मेरे लिए तो देश भर में इलेक्ट्रिक वाहन चलाने का विचार हड़बड़ी भरा लगता है।'

यह भी पढ़ें- मुकेश अंबानी ने कंपनी के 40 वर्ष पूरा होने पर कही ये बड़ी बात

फोल्गर ने कहा कि इससे भी महत्वपूर्ण यह है कि इस तरह की हड़बड़ी में हम भीवी पीढ़ियों के लिए बेहतर प्रौद्योगिकी के लिए विकल्पों को बंद कर रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार चाहती है कि 2030 तक देश में केवल इ​लेक्ट्रिक वाहन ही बिकें। हालांकि सरकार की इस मंशा की आर्थिक व वाणिज्यिक रूप से अव्यवहारिक बताते हुए आलोचना की गई है।

सरकार बदलाव को ध्यान में रखे

फोल्गर ने इस बारे में समन्वित प्रयासों पर जोर दिया और कहा कि नियामकों व नीति नियंताओं को प्रौद्योगिकी मोर्चे पर हो रहे बदलावों को ध्यान में रखते हुए ही फैसला करना चाहिए क्योंकि वाहन उद्योग के लिहाज से 510 साल बहुत छोटी अवधि है। नीति नियंता तो कम से कम इस बारे में वाहन उद्योग को विश्वास में ले सकते हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story