Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लोकसभा चुनाव 2019: अगर भाजपा को मिला बहुमत तो झूम उठेगा शेयर बाजार

भारतीय शेयर बाजार लंबी छलांग की तैयारी कर रहा है। अगर सबकुछ ठीक रहा तो शेयर बाजार नई ऊंचाइयों तक पहुंचेगा। फिलहाल, घरेलू बाजार एक दायरे में नजर आ रहे हैं।

लोकसभा चुनाव 2019: अगर भाजपा को मिला बहुमत तो झूम उठेगा शेयर बाजार
X

भारतीय शेयर बाजार लंबी छलांग की तैयारी कर रहा है। अगर सबकुछ ठीक रहा तो शेयर बाजार नई ऊंचाइयों तक पहुंचेगा। फिलहाल, घरेलू बाजार एक दायरे में नजर आ रहे हैं। 39,000 के पास पहुंचने के बाद सेंसेक्स करीब 5000 अंक टूट चुका है।

सेंसेक्स ने अब तक 38,989.65 का ऑल टाइम हाई बनाया है। वहीं, निफ्टी ने भी 1 हजार अंक की गिरावट दिखाई है। निफ्टी भी 12,000 के आंकड़ें को छूने के बेहद करीब पहुंचा था, लेकिन फिसलकर 10,600 की रेंज में घूम रहा है।

चुनाव है सबसे बड़ा ट्रिगर

भारतीय बाजार पूरी तरह से वैश्विक और घरेलू संकेतों पर कारोबार करते हैं। अब दलाल स्ट्रीट की नजरें सबसे बड़े ट्रिगर पर है। कुछ राज्यों में विधानसभा चुनाव चल रहे हैं।

अब बिजली गिरने से पहले अब फोन पर मिल जाएगा एलर्ट, जानें इसके बारे में

वहीं, अगले साल देश के लोकसभा चुनाव होने हैं। कार्वी स्टॉक ब्रोकिंग की रिपोर्ट के मुताबिक, घरेलू शेयर बाजार के लिए इससे बड़ा ट्रिगर फिलहाल कोई नहीं है। राज्यों के चुनाव नतीजों से आगे का नजरिया तय होगा।

लेकिन, बाजार की निगाहें आम चुनाव पर हैं। हालांकि, यह बहुत जल्दबाजी है लेकिन, ओपनियन पोल के मुताबिक, एनडीए दोबारा सत्ता में आ सकती है।

क्या कहता है शेयर बाजार का मूड

कार्वी की रिपोर्ट में कहा गया है कि 2019 के आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी सत्ता में दोबारा आएगी, लेकिन पिछले लोकसभा चुनाव के मुकाबले उसकी सीटें कम होंगी।

अब आप भी बिना पैसे दिए ओपन कर सकते है Mi Store, बस करना होगा यह काम

हालांकि, बाजार को यह मंजूर है और शेयर बाजार निश्चित तौर पर इन नतीजों का स्वागत करेगा। कार्वी के मुताबिक, साल 2019 के अंत तक सेंसेक्स 45,000 के स्तर को छू सकता है। वहीं, निफ्टी भी 14,000 के स्तर को पार कर सकता है।

झूम उठेगा सेंसेक्स

कार्वी की रिपोर्ट के मुताबिक, अगर भाजपा लोकसभा चुनाव में अपने दम पर बहुमत का आंकड़ा छू लेती है तो सेंसेक्स झूम उठेगा और 47000 के स्तर तक जा सकता है।

वहीं, अगर गठबंधन के आगे एनडीए को हार का सामना करना पड़ता है तो बाजार अस्थिर हो जाएगा और सेंसेक्स 30,000 के नीचे जा सकता है। वहीं, चुनाव के तुरन्त बाद निफ्टी भी 9,000 के आसपास तक फिसल सकता है।

सकारात्मक होंगे चुनाव नतीजे

पीएम मोदी की सत्ता में वापसी का असर आर्थिक विकास और बाजारों पर भी दिखेगा। अनुमान लगाया जा रहा है कि पीएम मोदी का दोबारा प्रधानमंत्री बनना बाजार के लिए भी सकारात्मक होगा।

पिछले कई महीनों में कई विशेषज्ञों और शोध एजेंसियों ने ऐसी ही भविष्यवाणी की है। अगर 2019 के नतीजे विपरित रहते हैं तो इसका असर भी विपरित ही होगा।

इन सेक्टर्स को करें पोर्टफोलियो में शामिल

घरेलू ब्रोकरेज फर्म के मुताबिक, आगे की स्थितियों को देखते हुए अपने पोर्टफोलियो में आईटी और हेल्थकेयर, ऑटोमोटिव, कैपिटल गुड्स और फाइनेंशियल सर्विसेज को शामिल करने की सलाह है।

वित्तीय बाजारों में हालिया उथल-पुथल को देखते हुए, निराशावादी होना आसान है। भारत के लिए मैक्रो दृष्टिकोण निश्चित रूप से छह महीने पहले की तुलना में कुछ हद तक खराब हो गया है। लेकिन, आउटलुक मजबूत बना हुआ है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story