Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Whatsapp यूजर्स के लिए बुरी खबर, भारत सरकार जल्द बंद कर सकती है यह ऐप, जानें पीछे की वजह

साल की शुरूआत से ही भारत सरकार और दुनिया दिग्गज मेसेंजिंग कंपनी Whatsapp के बीच फेक न्यूज को लेकर मतभेद चल रहा है। भारत सरकार ने Whatsapp को मैसेजेस ट्रैक करने की अनुमति मांगी थी, लेकिन व्हॉट्सएप ने यूजर्स की निजा जानकारी को सर्वजनिक ना करने का हवाला देते हुए ऐसा करने से इनकार कर दिया था।

Whatsapp यूजर्स के लिए बुरी खबर, भारत सरकार जल्द बंद कर सकती है यह ऐप, जानें पीछे की वजह
X

साल की शुरूआत से ही भारत सरकार और दुनिया दिग्गज मेसेंजिंग कंपनी Whatsapp के बीच फेक न्यूज को लेकर मतभेद चल रहा है। भारत सरकार ने Whatsapp को मैसेजेस ट्रैक करने की अनुमति मांगी थी, लेकिन व्हॉट्सएप ने यूजर्स की निजा जानकारी को सर्वजनिक ना करने का हवाला देते हुए ऐसा करने से इनकार कर दिया था।

ये भी पढ़े: दिल्ली में सोने और चांदी 10 ग्राम की कीमत हुई इतनी, जानें आज का रेट

जिसकी वजह से दोनों के ही बीच बहुत मतभेद बढ़ गया था। लेकिन व्हाट्सएप ने इस अनुमति के लिए मना कर दिया है, जिसके बाद इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय व्हॉट्सएप को एक और आधिकारिक पत्र भेजने की तैयारी कर रही है।

इस लेटर की मदद से सरकार व्हॉट्सएप को अलर्ट करेगी कि अगर वह सरकार की मांग पूरी नहीं करते हैं तो देश में व्हॉट्सएप को भारत में बैन किया जा सकता है। इसके साथ ही व्हॉट्सएप को जुलाई से अब तक का यह तीसरा आधिकारिक पत्र भेजा गया है।

इसके साथ ही जब से भारत में व्हॉट्सएप पर फेक न्यूज को फैलाया गया है, तब से लिंचिंग जैसी घटनाएं सामने आ रही है। इस घटना मद्दनजर रखते हुए व्हॉट्सएप के सीईओ क्रिस डैनियल ने कुछ समय पहले केंद्रीय सूचना और प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद से दिल्ली में मुलाकात की थी।

इस मुलाकात के दौरान सरकार ने व्हाट्सएप से पॉर्न और फेक न्यूज पर लगाम के लिए तकनीकी समाधान ढूंढने के लिए भी कहा था। इसके साथ ही भारत सरकार ने कई शर्तों के बारे में कहा था, जो कि हम आपको बताएंगे...

सरकार ने ये तीन शर्तें

1. भारत सरकार ने व्हॉट्सएप कहा था कि फेक न्यूज और अफवाहों पर लगाम लगाई जाए और इसके लिए अहम समाधान निकाले जाए।

2. भारत सरकार ने व्हॉट्सएप से कहा था कि काम करने के लिए यहां भी कार्यालय बनाया जाए।

3. भारत सरकार ने व्हॉट्सएप से फर्जी संदेश की ओरिजिन का पता लगाने के लिए तकनीकी समाधान तलाशें को कहा था और शिकायत निपटारे के लिए अधिकारी नियुक्त करने के लिए कहा था।

ये भी पढ़े: Flipkart की कार्डलेस क्रेडिट सर्विस लॉन्च, Amazon की पे ईएमआई को देगी टक्कर, ऐसे उठाए लाभ

बता दें कि Whatsapp ने सरकार की इन मांगों को ध्यान में रखते हुए कई और बदलाव किए है, जिससे फेक न्यूज न फैलें इसके लिए कंपनी ने एक खबर के लिए सिर्फ पांच ही ग्रुप में भेज सकते है और इससे पहले एक बार में 250 मेसेज भेज सकते है।भारत में Whatsapp के 1.5 बिलियन ऐक्टिव यूजर्स है।

व्हॉट्सएप अपने ऐप में कई नए फीचर्स एड करने के तैयारी कर रही है, जिसमें पेमेंट प्लैटफॉर्म और ऐडवर्टाइजर्स शामिल है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story