Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डिजिटल इंडिया में ''क्लाउड कम्प्यूटिंग'' के योगदान को लेकर अंबानी ने कही ये बड़ी बात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं भारत सरकार के अहम परियोजनाओं में से एक डिजिटल इंडिया मिशन को बढ़ावा देने में क्लाउड कम्प्यूटिंग का अहम योगदान है।

डिजिटल इंडिया में क्लाउड कम्प्यूटिंग के योगदान को लेकर अंबानी ने कही ये बड़ी बात
X

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं भारत सरकार के अहम परियोजनाओं में से एक डिजिटल इंडिया मिशन को बढ़ावा देने एवं क्लाउड कम्प्यूटिंग के भविष्य को लेकर रिलायंस जियो इन्फोकॉम के निदेशक आकाश अंबानी ने शुक्रवार को कहा कि देश का सार्वजनिक क्लाउड बाजार 2020 तक 53 प्रतिशत बढ़कर चार अरब डॉलर पर पहुंच जाएगा।

भारत के बारे में उन्होंने कहा कि दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था का लगातार डिजिटलीकरण हो रहा है, जिससे क्लाउड बाजार तेजी से बढ़ेगा। किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में पहली बार अकेले उपस्थित हुए मुकेश अंबानी के बड़े पुत्र ने इस मौके पर ओपन सोर्स, आर्टिफिशल इंटेलिजेंस, ब्लॉकचेन ओर ओपनस्टैक पर अपने विचार रखे।

यह भी पढ़ें- खुशखबरी: अब फ्लाइट में भी मिलेगी इंटरनेट एवं कॉल्स की सुविधाएं, ट्राई ने सुझाया ये प्लान

2083

पिछले साल 1.81 अरब डॉलर का रहा बाजार

इंडिया डिजिटल ओपन सम्मेलन में यहां आकाश अंबानी ने कहा, ‘भारत का सार्वजनिक क्लाउड बाजार 2018 में 2.6 अरब डॉलर पर पहुंच जाएगा, जबकि 2020 तक यह चार अरब डॉलर पर होगा।’ गार्टनर इंक का अनुमान है कि 2017 में भारत में सार्वजनिक क्लाउड सेवाओं का बाजार 1.81 अरब डॉलर है।

ओपन सोर्स कंपनी के लिए महत्वपूर्ण

सार्वजनिक क्लाउड कंप्यूटिंग में क्लाउड कंप्यूटिंग प्रौद्योगिकियों का इस्तेमाल कर उन ग्राहकों को समर्थन दिया जाता है तो प्रदाता संगठन से बाहर के हैं। जियो के निदेशक आकाश ने कहा कि ओपन सोर्स कंपनी के लिए काफी महत्वपूर्ण है, तो ओएनएपी सहित कई परियोजनाओं में भागीदारी कर रही है।

2081

यह भी पढ़ें- 16 MP कैमरे के साथ लॉन्च हुआ ये सस्ता स्मार्टफोन, जानें कीमत एवं फीचर्स

ओएनएपी बना एक मानक

ओपन नेटवर्क आटोमेशन प्लेटफार्म (ओएनएपी) एक ओपन सोर्स नेटवर्किंग आटोमेशन मानक है, जो भविष्य के नेटवर्क के काम में क्रांतिकारी बदलाव ला रहा है। आकाश अंबानी ने कहा कि ओपन सोर्स समुदायिक मदद से वैश्विक रुचि के क्षेत्रों में प्रौद्योगिकी की प्रगति हुई है। उन्होंने कहा कि आर्टिफिशल इंटेलिजेंस सभी के लिए मुख्यधारा बन रहा है।

स्टैक दुनिया की सबसे बड़ी परियोजना

आकाश ने कहा कि ओपन स्टैक दुनिया का सबसे बड़ा पूर्ण ओपन सोर्स क्लाउड परियोजना है। इसका अधिक से अधिक परियोजनाओं उपक्रमों में इस्तेमाल हो रहा है। यह रिलायंस जियो सहित सार्वजनिक और निजी क्लाउड के डेटा सेंटरों का परिचालन कर रहा है।

2082

साल 2017 डिजिटल करेंसी का रहा

आकाश ने कहा कि 2017 का साल ब्लॉकचेन और डिजिटल करेंसी का रहा। साल के दौरान बिटकॉइन काफी चर्चा में रहा। उन्होंने कहा कि जियो ग्राहकों का अनुभव बेहतर करने के लिए ओपन सोर्स प्रौद्योगिकियों में योगदान और इस्तेमाल को प्रतिबद्ध है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story