Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

5 साल में 25 करोड़ महिला मोबाइल उपभोक्ता की संख्या बढ़ी, जानें पूरी रिपोर्ट

आज के समय में हर एक व्यक्ति चाहें महिला हो या फिर पुरुष हो स्मार्टफोन का उपयोग करता है। वहीं, सभी स्मार्टफोन के यूजर्स अपने सारे पर्सनल और ऑफिशल काम इन स्मार्टफोन पर ही करते है।

5 साल में 25 करोड़ महिला मोबाइल उपभोक्ता की संख्या बढ़ी, जानें पूरी रिपोर्ट
X

आज के समय में हर एक व्यक्ति चाहें महिला हो या फिर पुरुष हो स्मार्टफोन का उपयोग करता है। वहीं, सभी स्मार्टफोन के यूजर्स अपने सारे पर्सनल और ऑफिशल काम इन स्मार्टफोन पर ही करते है।

अगर आपको भी मिल रहे है 100 और 500 रुपए के नकली नोट, तो ऐसे करें पहचान, नहीं होगा नुकसान

वहीं, 5 सालों में भारत में भी स्मार्टफोन उपभोक्ताओं की संख्या तेजी से बढ़ी है। अगर भारत में महिला स्मार्टफोन यूजर्स की बात करें तो यहां 59 प्रतिशत महिलाओं के पास फोन है, जिसमें इंटरनेट तक एक्सिस है।

भारत में 59 प्रतिशत महिलाएं स्मार्टफोन इस्तेमाल करती है, जिसमें करीब 16 प्रतिशत महिलाएं इंटरनेट का उपयोग करती है। यह जानकारी लंदन की ग्लोबल सिस्टम फॉर मोबाइल क्म्युनिकेशन ने मोबाइल जेंडर गैप रिपोर्ट 2019 से मिली है।

इस रिपोर्ट से यह खुलासा हुआ है कि भारत में 59 प्रतिशत महिलाएं स्मार्टफोन का इस्तेमाल करती है। वहीं, इस रिपोर्ट से यह जानकारी मिली है कि 5 सालों में महिला स्मार्टफोन यूजर्स की संख्या 25 करोड़ हो गई है।

ग्लोबल सिस्टम फॉर मोबाइल क्म्युनिकेशन अपने सर्वे में कम और मध्यम आय वाले 18 देशों के लोगों को शामिल किया था। इस सर्वे से यह भी जानकारी मिली है कि भारत में 59 प्रतिशत पुरुष और 48 प्रतिशत महिलाएं इंटरनेट को पहचानते हैं।

जीएसएमए की रिपोर्ट के अनुसार, देश में 80 प्रतिशत पुरुष स्मार्टफोन का उपयोग करते है और 59 प्रतिशत महिलाएं स्मार्टफोन का इस्तेमाल करती है। वहीं, पूरे विश्व में 80 प्रतिशत महिलाएं स्मार्टफोन का इस्तेमाल करती है, जिसमें 48 प्रतिशत महिलाएं इंटरनेट का उपयोग करती है।

अगर चीन की बात करें तो चीन में 96 प्रतिशत महिलाएं स्मार्टफोन का उपयोग करती है, जिसमें 81 प्रतिशत महिलाएं इंटरनेट का इस्तेमाल करती है। पाकिस्तान में स्मार्टफोन के उपयोग को लेकर पुरुषों और महिलाओं के बीच 37 प्रतिशत का जेंडर गैप और इटरनेट के इस्तेमाल को लेकर 71 प्रतिशत का गैप है।

पुलवामा हमले के बाद बॉर्डर के इन इलाकों में नहीं एक्टिव है पाकिस्तानी सिम कार्ड

बता दें कि आने वाले समय में स्मार्टफोन और इटरनेट के इस्तेमाल को लेकर जेंडर गैप कम हो जाता है, तो इससे टेलीकॉम कंपनियों को बड़ा फायदा हो सकता है। आने वाले 5 साल यानि 2023 तक गैप कम हो जाता है, तो कंपनियों को 140 अरब डॉलर यानि करीब 10 लाख करोड़ का लाभ हो सकता है।

वहीं, इन सभी देशों में जेंडर गैप कम हो जाता है, तो इससे देश की जीडीपी में 700 अरब डॉलर का इजाफा हो सकता है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story