Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हुवावे, वीवो, ओप्पो और शाओमी मिलकर जल्द ही देने वाले हैं कुछ नया, क्या है आप भी जानें

हुवावे, वीवो, ओप्पो और शाओमी मोबाइल कंपनियों ने गूगल के एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम से किनारा करने का मन बना लिया है।

हुवावे, वीवो, ओप्पो और शाओमी मिलकर जल्द ही देने वाले हैं कुछ नया, क्या है आप भी जानें
X
हुवावे, वीवो, ओप्पो और शाओमी मिलकर जल्द ही देने वाले हैं कुछ नया, क्या है आप भी जानें

गूगल के चार बड़ी मोबाइल कंपनियां हुवावे, वीवो, ओप्पो और शाओमी जल्द ही बड़ी मुसीबत खडी करने वाली हैं। एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम में गूगल का कब्जा खत्म होने वाला है। एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम लॉन्च होने के बाद से ही स्मार्टफोन के ऑपरेटिंग सिस्टम में गूगल का कब्जा हो रहा है।

गूगल के मैप्स, गूगल क्रोम, गूगल म्यूजिक जैसे कई सारे एप्स डिफॉल्स रूप से मिलते हैं। अब गूगल के इस कब्जे को लेकर हुवावे, वीवो, ओप्पो और शाओमी जैसी कंपनियों ने गूगल के इस अधिकार को खत्म करने का फैसला किया है। रिपोर्ट के मुताबिक यह चार मोबाइल कंपनियां एक नए मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम कर रही हैं। इसके तहत दुनियाभर के एप डेवलपर्स एप स्टोर पर अपने एप पब्लिश कर सकेंगे। इस साझेदारी को ग्लोबल डेवलपर्स सर्विस अलायंस (GDSA) नाम दिया गया है।

हुवावे गूगल से निर्भरता कर रही हैं खत्म

पिछले साल हुवावे पर अमेरिका में प्रतिबंध लगा था और उसे ब्लैकलिस्ट कर दिया गया था, जिसके बाद हुवावे ने अपना ऑपरेटिंग सिस्टम हार्मनीओएस तैयार किया है। इसके अलावा कंपनी ने अपना मैपिंग एप भी लॉन्च कर दिया है। ऐसे में हुवावे धीरे-धीरे गूगल से अपनी निर्भरता कम कर रही है। अब यह तीन अन्य कंपनियों के साथ मिलकर अब मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम कर रही है।

GDSA से कंपनियों को कमाई का नया रास्ता मिलेगा

GDSA के तहत दुनिया के किसी भी देश के डेवलपर्स गेम, म्यूजिक, मूवी समेत कई सारे एप्स GDSA के एप स्टोर पर पब्लिश कर सकेंगे। इन चार मोबाइल कंपनियों की साझेदारी के पीछे मकसद सिर्फ गूगल के प्ले-स्टोर के अधिपत्य को खत्म करना है।

GDSA मार्च 2020 में हो सकता है लॉन्च

GDSA की लॉन्चिंग मार्च 2020 बताई जा रही है। GDSA के एप स्टोर को भारत के अलावा इंडोनेशिया और रूस में भी लॉन्च किया जाएगा। अगर यह बाजार में आ जाता है तो गूगल को करीब 60 फीसदी मार्केट शेयर का नुकसान हो सकता है। एक रिपोर्ट के मुताबिक ग्लोबल मार्केट शेयर में इन चार कंपनियों की हिस्सेदारी 40.1 फीसदी है। वहीं 20 फीसदी बाजार पर एपल का कब्जा है। ऐसे में यदि ओप्पो, वीवो, शाओमी और हुवावे ये चार कंपनियां गूगल प्ले-स्टोर का इस्तेमाल बंद कर देती हैं तो गूगल को बड़ा नुकसान होगा।

Next Story