Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चीन की इन हरकतों से भारतीय कंपनियों को बचाने में जुटी सरकार, FDI के नियमों में किया यह बड़ा बदलाव

चीन के सरकारी बैंक ने HDFC के 1.01 प्रतिशत शेयर लेने पर भारतीय सरकार ने उठाया कदम

चीन की इन हरकतों से भारतीय कंपनियों को बचाने में जुटी सरकार, FDI के नियमों में किया यह बड़ा बदलाव
X

चीन के वुमान से निकले कोरोना वायरस ने दुनिया के साथ ही भारत में भी हाहाकार मचा दिया है। इस दौरान सरकार इससे निपटने के लिए लॉकडाउन (Lockdown) कर लोगों को बचाने में जुटी है। वहीं चीन (China) अपनी शातिर अंदाज से इस मौके का फायदा उठाते हुए (Indian Companies) भारतीय कंपनियों में कब्जा जमाने के प्रयास में जुटा है। इसका उदाहरण बीते दिनों चीन के केंद्रीय बैंक पीपुल्स बैंक ऑफ चाइना ने हाउसिंग लोन देने वाली भारत की दिग्गज कंपनी (HDFC Share) लिमिटेड के 1.75 करोड़ शेयर खरीद कर दिखा दिया है। यह शेयर चीन के सरकारी बैंक ने उस समय खरीदे जब एचडीएफसी के शेयरों में भारी गिरावट आने के साथ ही सरकार का ध्यान कोरोना (Coronavirus) पर टिके होना है। चीन की ऐसी हरकतों को देखकर सरकार ने भी भारतीय कंपनियों को चीन की इन हरकों से बचाने के लिए काम शुरू कर दिया है। इसके लिए सरकार से सबसे पहले एक मजबूत कदम उठाया है।

सरकार ने एफडीआई के नियमों में किया बदलाव

चीन की फितरत को जान चुकी भारतीय सरकार ने (FDI Rules) एफडीआई के नियमों में बदलाव कर दिया है। जानकारी के अनुसार, अगर किसी देश की सीमा भारतीय सीमा से सटी हो, वह कोई एंटिटी चाहे कंपनी या इंडिविजुअल वह सरकार की अनुमति के बाद भी भारत में निवेश कर सकता है। अब तक इसमें पाकिस्तान, बांग्लादेश की किसी भी कंपनी या नागरिक को भारत में किसी भी तरह के निवेश या कंपनी में नौकरी के लिए सरकार की अनुमति चाहिए होती थी। जबकि चीन के लोग या वहां की कंपनियां बिना भारतीय सरकार की अनुमति के भारत में निवेश कर सकती थी। इसी का फायदा उठाते हुए चीन के सरकार बैंक ने अपनी सरकार की मिली भगत से भारत की दिग्गज कंपनियों में शामिल एचडीएफसी (HDFC Share) के शेयरों को गिरावट के दौरान खरीद लिया। ऐसे समय में वह किसी और भारतीय कंपनियों में निवेश न कर सकें। इसके लिए सरकार ने एफडीआई के नियमों में बदलाव कर दिया है। अब पाकिस्तान, बांग्लोदश और चीन को भी भारत की किसी भी कंपनी या कर्मचारी को यहां नौकरी से पहले सरकार की अनुमति लेनी होगी। इतना ही नहीं चीन की इन हरकतों को देखकर भारत ही नहीं दुनिया के कई दूसरे देश भी सर्तक हो चुके हैं। उन्होंने चीनी कंपनियों के कदमों को रोकने के लिए पहले ही अपने देश के नियमों को कड़ा कर दिया है।

गिरावट के बीच चीन के सरकारी बैंक ने एचडीएफसी में पाई 1.01 प्रतिशत की हिस्सेदारी

मीडिया रिपोर्ग्स के अनुसार, चीनी बैंक ने एचडीएफसी में 1.01 प्रतिशत की हिस्सेदारी ले ली है। हालांकि एचडीएफसी में इससे पहले भी कई विदेशी कंपनियों व संस्थाओं की हिस्सेदारी है। अब चीन के केंद्रीय बैंक ने यह खरीदारी ऐसे वक्त में की है। जब कोरोना वायरस महामारी के कारण एचडीएफसी लिमिटेड के शेयरों में बड़ी गिरावट आई है। इसका फायदा उठाते हुए चीन के बैंक ने निवेश किया है।

Next Story
Top