Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Google ने Doodle बनाकर सेलब्रेट किया नोबेल विजेता Lev Landau का 111वां जन्मदिन

दुनिया की दिग्गज सर्च इंजन कंपनी Google ने आज नोबल प्राइज विजेता भौतिकशास्त्री लेव लैन्डाउ (Lev Landau) के 111वें जन्मदिन पर खास डूडल बनाकर सेलब्रेट किया हैं।

Google ने Doodle बनाकर सेलब्रेट किया नोबेल विजेता Lev Landau का 111वां जन्मदिन
X

दुनिया की दिग्गज सर्च इंजन कंपनी Google ने आज नोबल प्राइज विजेता भौतिकशास्त्री लेव लैन्डाउ (Lev Landau) के 111वें जन्मदिन पर खास डूडल बनाकर सेलब्रेट किया हैं।

Lev Landau सोवियत के मशहूर भौतिकशास्त्री थे, जिन्होंने 20वीं सदी में कई अहम रिसर्च की थी।

आप भी आसानी से Facebook की वीडियो को कर सकते है डाउनलोड, बसे फॉलो करें ये स्टेप्स

Lev Landau का जन्म 1908 में बाकू अजरबैजान में हुआ था और वे गणित के साथ विज्ञान के बुहत ही होशियार छात्र थे। Lev Landau के पिता ऑयल फर्म में इंजिनियर थे और उनकी मां डॉक्टर थी। आइए जानते हैं Lev Landau निजी जिंदगी के बारे में....

21 साल में पूरी की Ph.D.

Lev Landau ने अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद लेनिनग्राड यूनिवर्सिटी के फिजिक्स विभाग को ज्वाइन किया था।

सिर्फ 18 साल की ही उर्म में Lev Landau का पहला पेपर पब्लिश हुआ था।

उन्होंने सिर्फ 21 साल की उर्म में ही अपनी Ph.D पूरी की थी। Lev Landau को रॉकफेलर फेलोशिप के साथ कैंब्रिज और कोपेनहेगन में रिसर्च फैसिलिटी को देखने का मौका मिला था। इसके लिए उन्हें नोबेल अवॉर्ड भी मिला था।

1962 में फिजिकल में मिला था नोबल अवॉर्ड

Lev Landau ने क्वांटम मैकनिक्स में डेन्सिटी मैट्रिक्स मेथड, थिअरी ऑफ सेकंड ऑर्डर फेज ट्रैन्ज़िशन, थिअरी ऑफ फर्मी लिक्विड को-डिस्कवर्ड की थी Lev Landau यूक्रेनियन फिजिको टेक्निकल इंस्टीट्यूट में थिअरेटिकल डिपार्टमेंट के भी हेड थे।

Lev Landau खारकीव और मॉस्को स्टेट यूनिवर्सिटीज में थिअरेटिकल फिजिक्स के प्रफेसर भी थे और उन्होंने मैक्स प्लैन्क मेडल और फ्रिट्ज लंदन में अवॉर्ड मिला था।

MOTO G7 Power के फीचर हुए लीक, दमदार प्रोसेसर और नॉच डिस्प्ले के साथ हो सकता हैं लॉन्च

वहीं Lev Landau को 196 में फिजिक्स के लिए नोबेल अवॉर्ड मिला था।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story