Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Google ने जरमन केमिस्ट Friedlieb Ferdinand Runge को समर्पित किया Doodle, जानें कौन थे ये

दुनिया की दिग्गज सर्च इंजन कंपनी Google ने आज खास Doodle जरमन केमिस्ट Friedlieb Ferdinand Runge की याद में बनाया है। जरमन केमिस्ट Friedlieb Ferdinand Runge का आज 225 वां जन्मदिन है और इन्होंने ही कैफीन की खोज की थी।

Google ने जरमन केमिस्ट Friedlieb Ferdinand Runge को समर्पित किया Doodle, जानें कौन थे ये
X

दुनिया की दिग्गज सर्च इंजन कंपनी Google ने आज खास Doodle जरमन केमिस्ट Friedlieb Ferdinand Runge की याद में बनाया है। जरमन केमिस्ट Friedlieb Ferdinand Runge का आज 225 वां जन्मदिन है और इन्होंने ही कैफीन की खोज की थी।

Propose Day HD Wallpapers : प्रपोज डे पर सबसे दमदार HD Wallpapers से बनाएं Whatsapp Status

गूगल ने अपने डूडल में Friedlieb Ferdinand Runge को हाथ में कॉफी का कप पकड़े हुए दिखाया है और साथ में उनके पास एक बिल्ली बैठी हुई दिखाई है। इसके साथ ही गूगल ने अपने डूडल में रंज को कॉफी में कैफीन को महसूस करते हुए दिखाया है।

वहीं, गूगल खास अवसरों या मश्हूर हस्तियों के जन्मदिन के मौके पर गूगल बनाकर सेलिब्रेट करता हैं। आज का भी डूडल Friedlieb Ferdinand Runge के लिए बनाया है। आइए जानते है लोकप्रिया जरमन केमिस्ट Friedlieb Ferdinand Runge के बारे में....

Friedlieb Ferdinand Runge

रंज का जन्म जर्मनी में 8 फरवरी 1794 को हुआ था। रंज को केमेस्ट्री पढ़ने का बहुत शॉक था, जिसके चलते है उन्होंने कॉफी में पाए जाने वाले ड्रग कैफीन की खोज की थी।

आपको बता दें कि कैफीन एक कड़वी, सफेद क्रिस्टलाभ एक्सेंथाइन एलकेलॉइड होता है, जो कि सीधी तौर पर इंसान के दिमाग पर असर करता है।

सन 1819 में Friedlieb Ferdinand Runge ने इस ड्रग की खोज की थी और इसको कैफीन का नाम दिया था। रंज ने इस ड्रग को जर्मन भाषा में कैफी नाम दिया था, जो कि बाद कैफीन हो गया था।

छोटी सी ही उर्म में रंज बेलाडोना के पौधे पर रिसर्च करना शुरू कर दिया था, जो कि भविष्य में उनके लिए बड़ी उपलब्धि बन गई थी। इस रिसर्च में रंज ने जाना था कि इस पौधे के केमिकल से आखों की पुतलियां फैल और सिकुड़ जाती है।

इस खोज के सफल होने के बाद जर्मन राइटर जॉन वुल्फगैंग वोन ने कॉफी बीन्स के केमिकल कंपोजीशन पर रिसर्च करने को कहा था।

अगर आपको भी इस्तेमाल करना है सस्ता इंटरनेट, तो अपनाएं ये रिचार्ज प्लान

रंज ने 1819 में ही कैफीन की खोज की थी और इस खोज की वजह से रंज का नाम केमिकल हिस्ट्री के दिग्गज शोधकार्ताओं के नाम के साथ शामिल हो गया था। वहीं, रंज की मृत्यु 73 साल की उर्म में ही हो गई थी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story