Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Fake News को रोकने के लिए Facebook लेगा AFP पत्रकारों की मदद, जानें कैसे कसेगा लगाम

दुनिया की दिग्गज सोशल मीडिया कंपनी Facebook ने अगले साल भारत में होने वाले लोकसभा चुनावों में फेक न्यूज को रोकने के लिए ग्लोबल न्यूज एजेंसी एएफपी (एजेंस फ्रांस प्रेस) के साथ काम करने के तैयार है।

Fake News को रोकने के लिए Facebook लेगा AFP पत्रकारों की मदद, जानें कैसे कसेगा लगाम
X

दुनिया की दिग्गज सोशल मीडिया कंपनी Facebook ने अगले साल भारत में होने वाले लोकसभा चुनावों में फेक न्यूज को रोकने के लिए ग्लोबल न्यूज एजेंसी एएफपी (एजेंस फ्रांस प्रेस) के साथ काम करने के तैयार है।

ये भी पढ़े: इन तरीकों से बचाएं अपनी पर्सनल Whatsapp चैट, जानें इनके बारे में

फेसबुक भारत में थर्ड पार्टी फैक्ट-चेकिंग कार्यक्रम चलाएगा और इस प्रोग्राम के तहत एएफपी को भी जोड़ेगा। वहीं, अपने प्लेटफॉर्म पर फेक न्यूज पर लगाम लगाने के लिए भी ट्विटर भी बड़े कदम उठाने की तैयारी कर रहा है।

फेक न्यूज पर लगाम लगाने के मुद्दे पर सोमवार को ट्विटर के सीईओ जैक डोर्सी ने आईआईटी दिल्ली में आयोजित एक प्रोग्राम में कहा हैं कि फेक न्यूज पर लगाम लगाना इतना आसान नहीं है।

लेकिन चुनावों में फेक न्यूज को रोकने के लिए हम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) के साथ कई तरह के टूल्स का भी इस्तेमाल करेंगे। उन्होंने आगे कहा हैं कि फेक न्यूज को पूरी तरह से नहीं रोका जा सकता है, लेकिन एआई की मदद से फर्जी खबर को रोकने की कोशिश की जा सकती है।

पत्रकार बताएंगे हर खबर का सच

भारत के साथ कई देशों में फेसबुक अपना फैक्ट-चेकिंग प्रोग्राम चलाता है, इन प्रोग्राम के लिए एएफपी की मदद लेता है। अब भारत में होने वाले चुनावों में भी फेक न्यूज को रोकने के लिए और फैक्ट चेक करने में फेसबुक की एएफपी मदद करेगा।

इसमें एएफपी के पत्रकारों की फेसबुक की टीम के साथ काम करेगी और फेसबुक के प्लेटफॉर्म पर फैलने वाली हर खबर के फैक्ट चेक करेंगे और गलत होने पर इसकी जानकारी फेसबुक देंगे। इसके बाद फेसबुक उस खबर को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक नहीं पहुंचने देगा।

ये भी पढ़े: एयर एशिया दे रही है लोगों को 399 रुपए हवाई सफर की सुविधा, ऐसे उठाए लाभ

थर्ड पार्टी फैक्ट चेकिंग कार्यक्रम

जब से फेसबुक पर फेक न्यूज फैलाने का आरोप लगा है, इसके बाद से ही फेसबुक फैक्ट चैकिंग प्रोग्राम शुरू किया है। थर्ड पार्टी प्रोग्राम के तहत फैक्ट-चेकर्स वेबसाइट को शामिल किया गया है, जिसे नॉन-पार्टिसन इंटरनेशनल फैक्ट चेंकिंग नेटवर्क से वेरिफाई किया गया है।

फेसबुक का ये प्रोग्राम भारत के साथ 20 से ज्यादा देशों में लॉन्च हो चुका है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story