Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

FACEBOOK Hotline E-mail में सुरक्षित रहेगा भारतीय नेताओं का डाटा, जानें इसके सिक्यॉरिटी फीचर्स

दुनिया की सबसे बड़ी सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ने भारत के नेताओं और उनकी पार्टियों के लिए बड़ा एेलान किया है, जिसके तहत साइबर थ्रेट क्राइसिस ईमेल हॉटलाइन दे रहा है। वहीं यूजर्स के प्राइवेट डेटा लीक के बाद से विवादो में घिरी कंपनी यह बताया है कि वह भारत के लिए एक इलेक्शन इंटेग्रिटी माइक्रोसाइट पर काम कर रही है।

FACEBOOK Hotline E-mail में सुरक्षित रहेगा भारतीय नेताओं का डाटा, जानें इसके सिक्यॉरिटी फीचर्स
X

दुनिया की सबसे बड़ी सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ने भारत के नेताओं और उनकी पार्टियों के लिए बड़ा एेलान किया है, जिसके तहत साइबर थ्रेट क्राइसिस ईमेल हॉटलाइन दे रहा है।

वहीं यूजर्स के प्राइवेट डेटा लीक के बाद से विवादो में घिरी कंपनी यह बताया है कि वह भारत के लिए एक इलेक्शन इंटेग्रिटी माइक्रोसाइट पर काम कर रही है।

वहीं फेसबुक ने बताया है कि सिक्यॉरिटी से जुड़े किसी भी मुद्दे में भारतीय सरकार के इलेक्ट्रॉनिक और आईटी मंत्रालय के अंदर काम करने वाली कंप्यूटर इमर्जेंसी रिस्पॉन्स टीम को इससे संबंधित शिकायत indiacyberthreats@fb.com दर्ज कर सकते है। इसके साथ ही फेसबुक ने पॉलिटिकल अकाउंट्स के लिए साइबर सिक्यॉरिटी गाइड भी लॉन्च की है।

ये भी पढ़े: बुरी खबर! पेट्रोल-डीजल हो सकता है महंगा, कच्चे तेल की कीमत 100 डॉलर प्रति बैरल पहुंची!

फेसबुक ने आगे बताया है कि इस गाइड में बेसिक सिक्यॉरिटी की तनीक जैसे टू-स्टेप ऑथेंटिकेशन और संदिग्ध लिंक पर क्लिक नहीं करने की सलाह दी गई है। वहीं केंद्र सरकार ने कंपनी के सीईओ को यूजर प्राइवेसी और चुनाव प्रभावित करने पर सवाल उठाए थे, इसके बाद फेसबुक ने अपना जवाब कैंद्र को भेजा था।

फेसबुक के एक अधिकारी ने कहा है कि चुनाव के दौरान कुछ लोग बडे नेताओ और उनकी पार्टियों को टारगेट कर सकते है, इतना ही नहीं उनके फेसबुक पेज और अकाउंट्स को प्रभावित कर सकते है।

इस समस्या से बचने के लिए और अकांउट्स को सुरक्षा देने के लिए यह गाइड बनाया है। साथ ही भारत में निष्पक्ष चुनाव आयोजित करने को लेकर फेसबुक की तरफ से यह एक पहल है।

फेसबुक के पब्लिक पॉलिसी डायरेक्टर ने कहा है कि हम लोग इलेक्शन इंटेग्रिटी माइक्रोसाइट पर काम कर रहे है और सोशल मीडिया पर फेक खबर वायरल ना हो इस पर भी काम कर रहे है।

ये भी पढ़े: Maruti Suzuki Ertiga का लिमिटेड एडिशन लॉन्च, जानें इसकी कीमत और फीचर्स

बता दें कि फेसबुक ने एेलान किया है कि भारत में 2019 के चुनाव पॉलिटिकल कैंपेन के लिए स्पॉन्सरशिप की जानकारी देना जरूरी करने जा रहा है, इसके जरिए यह पता लग जाएगा कि कौन कैंपेन को स्पॉन्सर कर रहा है।

वहीं दूसरी तरफ भारत सरकार ने फेसबुक से पुछा था भारत में निष्पक्ष चुनाव करने के लिए क्या कर रही है। पिछले महीने फेसबुक ने दावा किया था कि करीब 5.62 लाख भारतीयों के डाटा लीक हुआ था, जिसके बाद भारत सरकार ने इस पर चिंता जताई थी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story