Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पूर्व तट रेलवे ने शुरू की नई सुविधा, मोबाइल एप्लीकेशन से लीजिए टिकट

पूर्व तट रेलवे उमेश सिंह ने रेल सदन में मोबाइल ऐप आधारित अनारक्षित टिकट प्रणाली (यूटीएस) का शुभारंभ किया है। पूर्व तट रेलवे क्षेत्राधिकार के यात्री अब इस सुविधा का लाभ प्राप्त कर सकेंगे।

पूर्व तट रेलवे ने शुरू की नई सुविधा, मोबाइल एप्लीकेशन से लीजिए टिकट
X

पूर्व तट रेलवे उमेश सिंह ने रेल सदन में मोबाइल ऐप आधारित अनारक्षित टिकट प्रणाली (यूटीएस) का शुभारंभ किया है। पूर्व तट रेलवे क्षेत्राधिकार के यात्री अब इस सुविधा का लाभ प्राप्त कर सकेंगे।

यह एप यात्रियों के लिए एक बड़ी राहत का कार्य करेगा जो अधिकतर अनारक्षित टिकटों से यात्रा करते हैं। मोबाइल ऐप पर आधारित अनारक्षित टिकट सिस्टम (यूटीएस) के विषय में मीडिया को सूचित करते हुए, ईसीओआर प्रधान मुख्य वािणज्यिक कॉमर्शियल मैनेजर अजय कुमार बेहरा ने कहा है कि अनारक्षित टिकट बुक करने के लिए मोबाइल ऐप की उपलब्धता के साथ रेल यात्री अब बाधामुक्त यात्रा कर सकेंगे और सामान्य डिब्बों में यात्रा के लिए यह अधिक आरामदायक होगी।

ये भी पढ़े: Oneplus 6 लॉन्च, आइडिया दे रहा है खास ऑफर, जानें इसकी कीमत और फीचर्स

वर्तमान में, रेलवे स्टेशनों पर सामान्य टिकट बुकिंग काउंटर से ट्रेन टिकट प्राप्त करने के लिए यात्रियों को कई घंटों तक लंबी कतार में खड़े रहना पड़ता है, जिसमें कुछ रेल यात्री एटीवीएम का उपयोग कर रहे हैं।

इस प्रणाली के क्रियान्वयन के बाद, सामान्य टिकटों के लिए कतार में खड़े यात्रियों को डिजिटल लेनदेन प्रक्रिया की शुरुआत करने के साथ-साथ ऐप रेलवे में पेपरलेस लेनदेन को भी बढ़ावा देगा। रेलयात्री किसी भी कठिनाइयों का सामना किए बिना अपने क्रेडिट/डेबिट कार्ड, नेट बैंकिंग, यूपीआई के माध्यम से भी भुगतान कर सकते हैं।

ऐप के विकास के दौरान कई विनिर्देशों को ध्यान में रखा गया है। यदि कोई यात्री अनारक्षित टिकट प्राप्त करना चाहता है, तो यात्री को ऐप के लिए ठीक से काम करने के लिए रेलवे स्टेशनों से 2 किमी से 20 किमी के दायरे में रहना होगा ताकि एक यात्री ऐप के बेहतर कामकाज के लिए एक ही विनिर्देश का पालन करके एक मंच पर ही सामान्य टिकट अथवा सीजन टिकट भी प्राप्त कर सकता है।

ये भी पढ़े: पेट्रोल-डीजल की कीमतों ने तोड़े अब तक के सारे रिकॉर्ड, चार दिन से लगातार बढ़ रही कीमतें

सिस्टम में, यात्रियों को गूगल प्ले से यूटीएस ऐप डाउनलोड करना होगा और फिर अपने मोबाइल को पंजीकृत कर साइन-अप विकल्प का उपयोग करके संख्या, नाम, जन्म तिथि और पहचान प्रमाण दर्शाना होगा।

सफल पंजीकरण के बाद, ग्राहक के मोबाइल पर एक 4 अंकों का पासवर्ड एसएमएस के रूप में भेजा जाएगा और आर-वॉलेट जीरो बैलेंस में होगा। यात्रियों को आर-वॉलेट में न्यूनतम रुपए 100 के गुणकों तथा अधिकतम 10,000रुपए का शेष राशि 100रुपए रिचार्ज करनी होगी।

पेपरलेस टिकट

यात्रियों को एकल, वापसी यात्रा, प्लेटफार्म और सीजन टिकट बुक करने के लिए उपयोगकर्ता आईडी और पासवर्ड का उपयोग करके लॉग इन करके अपने अनारक्षित टिकट बुक करें। चूंकि यह पेपरलेस है, प्रिंटआउट लेने की कोई आवश्यकता नहीं है।

ये भी पढ़े: PAYTM ने अपने एेप में डाला नया फीचर, आसानी से कर पाएंगे हैवी ट्रांजेक्शन, जानें कैसे करें इसका इस्तेमाल

बता दें कि एक बार बुक किए गए टिकट को रद्द या धनवापसी नहीं की जा सकती हैं। दिखाने की मांग पर टिकट जांच रेलयात्री रेल कर्मचारी को ‘शो टिकट’ विकल्प का उपयोग करेंगे।

यदि यात्री टिकट चेकिंग स्टाफ को ऐप में टिकट नहीं दिखा पता है, तो उसे टिकट के बिना यात्रा के रूप में माना जाएगा और मौजूदा नियमों के मुताबिक जुर्माना लगाया जाएगा। ‘टिकट दिखाएं’ विकल्प भी काम करेगा, भले ही कोई इंटरनेट कनेक्शन न हो।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story