logo
Breaking

दिल्ली हाईकोर्ट ने दिया बड़ा आदेश, अब व्हाट्सऐप, एसमएस और ई-मेल के जरिए होगी FIR दर्ज

दिल्ली हाईकोर्ट ने एफआईआर (FIR) दर्ज करवाने को लेकर बड़ा फैसला सुनाया है। हाईकोर्ट ने पुलिस को आदेश देते हुए कहा है कि खोए हुए लोगों के परिजन एफआईआर मैसेज, ई-मेल और व्हाट्सऐप के माध्यम से दर्ज करवा सकते हैं।

दिल्ली हाईकोर्ट ने दिया बड़ा आदेश, अब व्हाट्सऐप, एसमएस और ई-मेल के जरिए होगी FIR दर्ज

दिल्ली हाईकोर्ट ने एफआईआर (FIR) दर्ज करवाने को लेकर बड़ा फैसला सुनाया है। हाईकोर्ट ने पुलिस को आदेश देते हुए कहा है कि खोए हुए लोगों के परिजन एफआईआर मैसेज, ई-मेल और व्हाट्सऐप के माध्यम से दर्ज करवा सकते हैं।

हाईकोर्ट के इस आदेश से तत्काल में खोए हुए लोगों की खोज तेजी से की जा सकेगी। खोए हुए लोगों की शिकायत को लेकर हाईकोर्ट के जस्टिस मनमोहन और संगीता की खंडपीठ ने यह आदेश दिया है।

दरअसल, एक महिला ने अपने पति के अपहरण की शिकायत पुलिस में की थी, लेकिन शिकायत सही समय पर नहीं हुई जिसकी वजह से मामला कोर्ट में पहुंच गया। इसके बाद दिल्ली के हाईकोर्ट में जनहित याचिका पर सुनावाई हुई, जिसके बाद उच्च न्यायालय ने यह आदेश दिया है।

आपको बता दें कि इससे पहले कोर्ट में जब महिला पहुंची थी, तब जाकर पुलिस हरकत में आई थी। वहीं, महिला ने दावा किया था कि उसके पति का मटरू और उसके सहयोगियों ने अपहरण किया है। इतना ही नहीं महिला ने दिल्ली पुलिस आयुक्त में भी शिकायत दर्ज करने की कोशिश की थी, लेकिन विफल हो गई थी। लेकिन दिसंबर में जाकर उसकी शिकायत दर्ज हुई थी।

जैसे ही यह मामला कोर्ट पहुंचा, तब कोर्ट ने 26 मार्च को महिला का केस क्राइम ब्रांच को सौप दिया था।

दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा है कि अगर महिला की शिकायत पूरी तरह से झूठी निकली तो एफआईआर को रद्द कर दिया जाएगा। वहीं, क्राइम ब्रांच के डीसीपी को 6 हफ्तें के अंदर इस मामले में रिपोर्ट देनी होगी। अब महिला के पति के अपहरण के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट में अगली सुनवाई 17 जुलाई 2019 को होगी।

Loading...
Share it
Top