Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Coronavirus: कोरोना के कहर से ऐतिहासिक गिरावट पर पहुंचा रुपया

सोने-चांदी और शेयर के बाद रुपये पर भी टूटा कोरोना का कहर। 95 पैसे की गिरावट के साथ 76 से भी नीचें पहुंच गया रुपया।

Coronavirus: कोरोना के कहर से ऐतिहासिक गिरावट पर पहुंचा रुपया
X

शेयर मार्केट, सोना और कच्चे तेल के बाद अब कोरोना (Coronavirus) का कहर रुपये पर टूटा पडा है। यही वजह है कि रुपये में डॉलर (Dollar) के मुकाबले अब तक ऐतिहासिक गिरावट दर्ज की गई है। रुपया अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंच चुका है। इसकी कोरोना का अर्थव्यवस्था पर भारी चोट पहुंचाना है। जिसके चलते सोमवार को रुपया डॉलर (Rupee-Dollar) के मुकाबले सबसे निचले स्तर 76.15 पर पहुंच गया है।

इस वजह से रुपये में दर्ज की गई भारी गिरावट

सोमवार सुबह पहले पहर में ही कारोबार के दौरान डॉलर के मुकाबले रुपया 95 पैसे टूटकर 76.15 पर पहुंच गया। इसकी वजह भारत में कोरोना (Coronavirus) के मामले काफी तेजी से बढ़ने और शेयर बाजार में भारी बिकवाली को माना जा रहा है। जिसने पूरी मार्केट (Market) में हाहाकार मचा दिया है। शेयर बाजार (Share Bazar) भी करीब 13 लाख करोड रुपये का नुकसान हो चुका है। हालांकि ऐतिहासिक गिरावट के बाद दूसरे पहर यानि दोपहर के समय रुपये में कुछ सुधार हो गया। जिसके बाद रुपया डॉलर के मुकाबले करीब 75.94 पर पहुंचा।

कारोबारियों ने कोरोना फैलने पर जाहिर की चिंता

वहीं मुद्रा कारोबारी रुपये के इतने नीचे गिरने के साथ ही मार्केट को लेकर बहुत चिंतित है। इसकी वजह देश में कोरोना पॉजिटिव मामलों का तेजी से बढना है। जनता कफ्यू और कुछ राज्यों में लॉकडाउन के बावजूद भी कोरोना पॉजिटीव मरीजों की संख्या 400 पहुंच गई है। वही लॉकडाउन (Lockdown) होने से बाजार को लाखों रुपये का नुकसान उठाना पड रहा है। इतना ही नहीं जानकारों की मानें लॉकडाउन कुछ दिन और रहा तो अर्थव्यवस्था भी अपने निचले स्तर पर पहुंच सकती है।

कारोबारी देश दुनिया में गिरते बाजार को देख परेशान

दुनिया के साथ देश में भी कोरोना को फैलते और उसकी जद में आए मार्केट को लेकर कारोबारी परेशान है। कारोबारियों के अनुसार, अब निवेशकों में डर और परेशानी देखी जा रही है। इसकी वजह दुनिया के साथ ही भारतीय अर्थव्यवस्था गहरने संकट में जाती दिख रही है। इसकी वजह कोरोना वायरस का ज्यादा देश और लोगों को अपनी जद में लेना है।

Next Story
Top