Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

25 मई से शुरू होंगी घरेलू उड़ानें, आरोग्य सेतु ऐप में ग्रीन सिग्नल मिलने पर ही यात्रियों को मिलेगी एंट्री

लॉकडाउन 4 के बीच शुरू हुई घरेलू उड़ानें यात्रियों को इन नियमों का पालन करना होगा अनिवार्य।

25 मई से शुरू होंगी घरेलू उड़ानें, आरोग्य सेतु ऐप में ग्रीन सिग्नल मिलने पर ही यात्रियों को मिलेगी एंट्री

कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते देश में जारी लॉकडाउन के बीच अब 25 मई से घरेलू उडानों के लिए अनुमति जारी कर दी है। इसबीच ही यात्रिसों को कोविड 19 के संक्रमण से बचाने के लिए मंत्रालय ने एयरपोर्ट ऑपरेटर (Airport Operator) एवं एयरलाइंस (Airlines) की सहमति के बाद एक स्‍टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (SOP) तैयार किया है। इसमें यात्रियों के लिए कई (Guidelines) गाइडलाइन जारी कर दी हैं। जिसे कोरोना वायरस (CoronaVirus) के संक्रमण से बचाकर यात्रियों को उनके गंतव्य स्थानों तक पहुंचाया जा सकें।

आरोग्य सेतु ऐप में ग्रीन सिग्नल होने पर ही एयरपोर्ट पर मिलेगी एंट्री

दरअसल, विमानन के अधिकारियों ने एसओपी और गाइडलाइन्स यात्रियों की सुरक्षा के लिए जारी कि हैं। इसमें क्या करें और क्या न करें। जैसे सभी चीजें बताई गई है। इसके तहत सबसे पहले यात्रियों के (Passengers Mobile Phone) मोबाइल फोन में (Arogya Setu App) आरोग्य सेतु ऐप होना अनिवार्य किया गया है। इतना ही नहीं ऐप में ग्रीन स्टेटस होने पर ही एयरपोर्ट में अंदर जाने की अनुमति दी जाएगी। अन्यथा एयरपोर्ट बिल्डिंग में घुसने से रोक दिया जाएगा। इसके साथ ही अपनी फ्लाइट के समय से करीब 2 घंटे पहले यात्री को एयरपोर्ट पर पहुंचना अनिवार्य होगा। यात्रियों को मास्क और ग्लब्स पहनना अनिवार्य होगा। इतना ही नहीं शू कवर भी पहनना अनिवार्य किया गया है। इसके साथ ही देश के कुछ एयरपोर्ट पर आवश्‍यकता अनुसार, फेस शील्‍ड और पीईपी किट (PEP Kit) पहनने की भी सलाह दी गई हैं।

एक ही बैग ले जा सकेंगे यात्री

विमानन अधिकारियों की मानें तो नई एसओपी में यात्रियों को केबिन बैगेज ले जाने की अनुमति नहीं हैं। यात्री अपने साथ सिर्फ 20 किलो तक का एक बैग ले जा सकते हैं। इसके साथ ही यात्री को अपना बैग खुद ही कैरी करना होगा। उसे बेल्ट में रखना होगा। वहीं, एक्‍सेस बैगेज (Excess Baggage) की स्थिति में यात्री से सिर्फ डिजिटल मोड (Digital Payment) से पेमेंट ली जाएगी। वहीं इसमें (Social Distancing) सोशल डिस्टेंसिंग का खास ध्यान रखना अनिवार्य हैं। साथ ही यात्रियों के एयरक्राफ्ट में प्रवेश से पहले सभी मुसाफिरों की टेंपरेचर जांच किया जाएगा।

Next Story
Top