Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अंतरिक्ष में चीन का ''स्पेस-स्टेशन'' हुआ बेकाबू, इन देशों में मचा सकता है तबाही

चीन के दुनिया के सुपरपॉवर बनने का सपना इस बार दुनिया के लोगों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है।

अंतरिक्ष में चीन का स्पेस-स्टेशन हुआ बेकाबू, इन देशों में मचा सकता है तबाही
X

चीन के दुनिया के सुपरपॉवर बनने के सपना इस बार दुनिया के लोगों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। चीन अमेरिका को पछाड़कर मेन्युफेक्चरिंग और तकनीक के क्षेत्र में आगे निकलना चाहता है। इसी जल्दबाजी में इस बार हुई गलती से पूरी दुनिया पर खतरा मंडरा रहा है। 29 सिंतबर 2011 को अंतरिक्ष में छोड़ा गया चीन का यह स्पेस स्टेशन बेकाबू हो गया है और कभी भी पृथ्वी पर गिर सकता है।

यह भी पढ़ें- महिन्द्रा की नई स्कॉर्पियो की तस्वीरें हुई वायरल, तस्वीरों में देखें कार का एकदम नया लुक

तेजी से गिर रहा है पृथ्वी की तरफ

चीन के इस स्पेस स्टेशन का नाम 'टियान गोंग-1' है। इस स्पेस स्टेशन का वजन 8 हजार 506 किलोग्राम है और इसकी लंबाई करीब साढ़े 10 मीटर है। जब से यह स्पेस स्टेशन लॉन्च हुआ है तब से 1 नवंबर 2017 तक इसने धरती के 34 हजार 976 चक्कर लगा लिया है। चीन ने इस स्पेस स्टेशन को केवल दो साल के लिए लॉन्च किया था, लेकिन अप्रेल 2013 में भविष्य में फिर से इस्तेमाल करने के लिए 'स्लीप मोड' में डाल दिया था।

'स्लीप मोड' में होने के बावजूद यह स्पेस स्टेशन निरंतर काम करता रहा और चीन के 'स्पेस इंजिनियरिंग ऑफिस' ने साढ़े चार साल तक इस 'स्पेस स्टेशन' की सेवा लेने के बाद इसके डेटा सर्विस को बंद कर दिया। इस स्पेस स्टेशन से पिछले साल सितंबर में संपर्क टूट गया, अनुमान है कि तब से यह लगातार अपने ऑर्बिट से पृथ्वी की तरफ नीचे गिर रहा है।

यह भी पढ़ें- फेसबुक ने यूजर्स से मांगी न्यूड तस्वीरें, वजह जानकर आप बोलेंगे अच्छा कदम है

ये देश आ सकते हैं चपेट में

वैज्ञानिक इस बात की पता लगाने की कोशिश में हैं कि यह स्पेस स्टेशन कहां गिरेगा और कितनी तबाही मचाएगा। इस स्पेस स्टेशन पर यूरोपीय स्पेस एजेंसी नजर बनाए हुए हैं। स्पेस एजेंसी के मुताबिक पृथ्वी के वातावरण में आते ही यह स्पेस स्टेशन कई टुकड़ों में बंट जाएगा और इसकी चपेट में कई यूरोपीय देश आ सकते हैं। जिनमें स्पेन, पुर्तगाल, इटली, बुल्गारिया और ग्रीस प्रमुख है।

भारत में इसके गिरने की संभावना वैसे तो कम है मगर इस बेकाबू स्पेस स्टेशन से भारी तबाही मच सकती है। हालांकि चीन के इस स्पेस स्टेशन का वजन धरती तक आते-आते 100 किलोग्राम के आस-पास रहेगा, मगर खतरा बरकार है।

यह भी पढ़ें- जियो का रिचार्ज खत्म हो गया? अब इन रिचार्जों पर मिलेगा कैशबैक

38 साल पहले भी घट चुकी है यह घटना

कुछ ऐसा ही घटनाक्रम करीब 38 साल पहले भारत में हुआ था, उस समय लोगों ने ये मान लिया था कि अमेरिकी स्पेस स्टेशन 'स्काईलैब' के कारण उनकी मौत हो जाएगी। इस सूचना से भारत में जबरदस्त दहशत फैल गई थी। कई लोगों ने मान लिया था कि अब उनके जीवन के कुछ ही दिन बचे हैं।

वैज्ञानिकों ने इस स्पेस स्टेशन को भारत और आस्ट्रेलिया के बीच हिंद महासागर में गिराकर एक भयानक विनाश होने से बचा लिया था। लोगों को उम्मीद है कि इस बार भी वैज्ञानिक इसे समुद्र में गिराकर फिर से विनाश होने से बचा लेगें।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story