Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

WalMart और Flikart की डील में कैट का रोडा, फ्लिपकार्ट को बताया विसंगतियों से भरा ई-कॉमर्स प्लेटफार्म

कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स कैट ने वालमार्ट और फ्लिपकार्ट के बीच हुए करार पर विरोध दर्ज कराते हुए इसके खिलाफ भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग में याचिका दायर की है।

WalMart और Flikart की डील में कैट का रोडा, फ्लिपकार्ट को बताया विसंगतियों से भरा ई-कॉमर्स प्लेटफार्म
X

कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स कैट ने वालमार्ट और फ्लिपकार्ट के बीच हुए करार पर विरोध दर्ज कराते हुए इसके खिलाफ भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग में याचिका दायर की है।

कैट ने इस डील से देशभर में प्रतिस्पर्धा बढ़ने और कारोबारियों को भारी नुकसान होने की आशंका जताई है। कैट ने इस बात पर आपत्ति जताई है कि वालमार्ट विश्व का सबसे बड़ा रिटेलर है।

यह भी पढ़ेंः Ford अपनी नई कार Aspire के साथ चार अन्य कारों को करेगी लॉन्च, देगी डिजायर और अमेज को टक्कर, जानें फीचर्स

ऐसे में फ्लिपकार्ट के प्लेटफार्म पर लागत से भी कम दाम पर माल बेचने से बाजार बुरी तरह से प्रभावित होगा। इसलिए इसकी जांच की जानी चाहिए।

कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी ने बताया, फ्लिपकार्ट विसंगतियों से भरा ई-कॉमर्स प्लेटफार्म है। इसीलिए लागत से भी कम मूल्य पर माल बेचना और कुछ व्यक्तियों के साथ समझौतों को तरजीह देना इसमें शामिल है।

यह भी पढ़ेंः Watsapp पर यूजर्स को होने वाली दिक्कत से मिलेगा छुटकारा, लॉन्च हुए तीन नए फीचर्स, जानें इनके बारे में

चूंकि वालमार्ट 77 फीसदी शेयर लेकर फ्लिपकार्ट का वास्तविक मालिक बन जाएगा। इसीलिए इसमें सिर्फ वालमार्ट के उत्पादों को प्रमुखता से बेचा जाएगा।

इससे ऑफलाइन व्यापारियों को वह माल नहीं मिलेगा और वे प्रतिस्पर्धा में नहीं टिक पाएंगे। फ्लिपकार्ट द्वारा बनाए गए ई-प्लेटफार्म का उपयोग वालमार्ट पूरी शक्ति से अनुचित और उचित रास्तों से करेगा, जिससे व्यापारियों को नुकसान होगा। इसलिए कैट ने इस डील के खिलाफ याचिका दायर की है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story