Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Brave ब्राउजर का अपडेट वर्जन हुआ लॉन्च, Google Chrome को देगा कड़ी टक्कर, जानें इसके बारे में

आज के समय में सबसे ज्यादा लोग दिग्गज सर्च इंजन कंपनी गूगल (Google) के गूगल क्रोम ब्राउजर (Google Chrome) का उपयोग इंटरनेट सर्फिंग (Internet Surfing) के लिए करते हैं।

Brave ब्राउजर का अपडेट वर्जन हुआ लॉन्च, Google Chrome को देगा कड़ी टक्कर, जानें इसके बारे मेंBrave browser launch Google Chrome give competition know about it

आज के समय में सबसे ज्यादा लोग दिग्गज सर्च इंजन कंपनी गूगल (Google) के गूगल क्रोम ब्राउजर (Google Chrome) का उपयोग इंटरनेट सर्फिंग (Internet Surfing) के लिए करते हैं वही, वर्तमान में गूगल क्रोम के साथ करीब 2 बिलियन उपभोक्ता (Two Billion Users) जुड़े हैं और गूगल क्रोम भी अपने उपभोक्ताओं को बेहतर सुविधाएं देने के लिए नए फीचर्स पेश करता रहता है। लेकिन अब गूगल क्रोम को कड़ी टक्कर मिलने वाली है, क्योंकि टेक बाजार में नया और दमदार ब्राउजर ने एंट्री कर ली है। तो चलिए जानते हैं नए ब्राउजर के बारे में....

दमदार बैटरी के साथ LG W30 Pro, W30 और W10 हुए लॉन्च, जानें कीमत और फीचर्स

दरअसल, टेक कंपनी ब्रेव सॉफ्टवेयर (Brave Software) ने अपने लेटेस्ट ब्राउजर ब्रेव ब्राउजर (Brave Browser) लॉन्च किया है। ब्रेव ब्राउजर अपने आप ही थर्ड पार्टी ऐड्स और कुकीज को ब्लॉक कर देता है। यदि उपभोकता ब्राउजर पर किसी भी विज्ञापन को ओपन करते हैं, तो यह ब्राउजर पूरी तरह से सिस्टम को सिक्यूर करता है।

ब्रेव सॉफ्टवेयर कंपनी ने अपने ब्राउजर को विज्ञापन मॉडल के तर्ज पर अपडेट किया है। इस अपडेट के बाद से ही विज्ञापन डालने वाले उपभोक्ताओं को 70 प्रतिशत का लाभ दिया जाएगा। साल 2020 तक ज्यादातर उपभोक्ता 60 डॉलर से लेकर 70 डॉलर तक कमा सकते हैं।

ब्रेव ब्राउजर को लेकर कंपनी ने कहा है कि हम ब्रेव विज्ञापन के जरिए दोबारा से ऑनलाइन एडरटाइसिंग सिस्टम को बेहतर बना रहे हैं। वहीं, ब्रेव ब्राउजर को फायरफॉक्स के मुख्य अधिकारी ब्रेंडन इच ने बनाया है। उन्होंने कहा है कि ब्रेव ब्राउजर का ब्रेव एड फीचर हैकर्स को बीच से हटाता है और साथ ही उपभोक्ताओं के डाटा को भी सिक्योर करता है।

अगर सिक्योर और तेज ब्राउजिंग की बात करें तो ब्रेव ब्राउजर क्रोम को कड़ी टक्कर दे सकता है और इस ब्राउजर ने दूसरे नंबर पर अपना कब्जा जमा रखा है। रिपोर्ट से जानकारी मिली है कि ऐप्पल सफारी तीसरे नंबर पर है और गूगल क्रोम चौथे नंबर स्थित है।

सबसे पहले ब्रेव सॉफ्टवेयर कंपनी ने ब्रेव ब्राउजर को 2018 में आईओएस प्लेटफॉर्म के लिए लॉन्च किया था और अब यह ब्राउजर मैकओएस, एंड्रॉयड और विंडो के ऑपरिटिंग सिस्टम पर काम करता है। वहीं, ब्रेव ब्राउजर डेस्कटॉप पर 2 गुनी तेजी से काम करता है और मोबाइल पर 8 गुना तेजी से काम करता है।

ब्रेव ब्राउजर अपने आप ही थर्ड पार्टी ट्रेकर्स के साथ थर्ड पार्टी कुकीज को ब्लॉक करता है और साथ ही उपभोक्ता अपने हिसाब से प्राइवेसी सेट कर सकते हैं। लेकिन आप गूगल क्रोम में प्राइवेसी सेट नहीं कर सकते हैं।

ये Accessories बना देंगे आपके Video को और ज्यादा मजेदार

आपको बता दें कि ब्रेव ब्राउजर अपने उपभोक्ताओं को कई सारे सिक्योर विज्ञापन दिखाता है और साथ ही मेलवेयर वाले कॉन्टेंट को ब्लॉक कर देता है। कंपनी ने ब्रेव के एड फ्री वर्जन को भी पेश किया है, जिसमें एंटी ट्रेकिंग और बिल्ट इन ब्लॉकिंग कैपब्लिटी जैसे फीचर्स शामिल हैं।

Share it
Top