Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bandhan Bank Gruh Finance के साथ डील के लिए सहमत, शेयर पर हुआ बड़ा असर

देश की बड़े प्राइवेट बैंक बंधन बैंक (Bandhan Bank) ने गृह फाइनेंस (Gruh Finance) कंपनी को (Gruh Finance Share) लेकर बड़ा फैसला लिया है।

Bandhan Bank Gruh Finance के साथ डील के लिए सहमत, शेयर पर हुआ बड़ा असर
X

Gruh Finance Share

देश की बड़े प्राइवेट बैंक बंधन बैंक (Bandhan Bank) ने गृह फाइनेंस (Gruh Finance) कंपनी को (Gruh Finance Share) लेकर बड़ा फैसला लिया है। इसके साथ ही बंधन बैंक शेयर के सौदे (Gruh Finance Share) की डील की मदद से गृह फाइनेंस का अधिग्राहण करने को तैयार हो गया है। यह डील पूरी तरह से शेयरों की तर्ज पर की जाएगी और अधिग्राहण के बाद जो ईकाई में बंधन बैंक के प्रवर्तकों की हिस्सेदारी कम होकर 61 प्रतिशत ही रह जाएगी। गृह फाइनेंस (Gruh Finance) कंपनी दिग्गज लोन देने वाली कंपनी है, जो कि HDFC Bank बैंक अंडर में काम करती है। यह कंपनी किफायती दर पर हाउसिंग लोन देती है और इस कंपनी में एचडीएफसी बैंक की कुल 57.83 प्रतिशत है।

HDFC AMC ने ICICI Pru को दी मात, बनी भारत की सबसे बड़ी म्‍युचुअल फंड कंपनी

अगर बंधन बैंक (Bandhan Bank) के शेयर की बात करें तो इस बैंक के शेयर में 2.4 प्रतिशत की कमी आई है और इसकी कीमत 485.5 रुपए है और एचडीएफसी बैंक के शेयर में भी कमी देखने को मिली है, इसके बाद इसकी कीमत 1962.8 रुपए हो गई है। दूसरी तरफ गृह फाइनेंस के शेयर (Gruh Finance Share) में भी 12.5 प्रतिशत की कमी देखने को मिली है, इसके बाद इसकी कीमत 267.3 रुपए हो गई है।

दोनों ही कंपनियो के लोनधारकों के लिए निदेशक कमेटी ने शेयरों की अदला बदली के लिए कई नियम तय किए है। अब गृह फाइनेंस (Gruh Finance Share) के शेयरहोल्डर्स को हर 1000 शेयर के बदले अब बंधन बैंक के 568 शेयर दिए जाएंगे। दोनों के मिलने के बाद से ही बंधन फाइनेंशियल होल्डिंग्स की हिस्सेदारी 82.3 प्रतिशत से गिरकर 61 प्रतिशत रह जाएगी। वहीं एचडीएफसी विलय के बाद सिर्फ 15 प्रतिशत की हिस्सेदारी रह जाएगी।

इकाई की मार्केट 82,206 करोड़ रुपए और बैलेंस शीट 50,036 करोड़ रुपए हो जाएगी। लेकिन, बंधन बैंक के संस्थापक प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी चंद्र शेखर घोष ने अपनी हिस्सेदारी कम करके 40 प्रतिशत करने की समयसीमा नहीं बताई है। देश के सबसे बड़े बैंक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने हिस्सेदारी को 40 प्रतिशत कम करना जरूरी कर दिया है।

इसके साथ ही एचडीएफसी बैंक के चैयरमैन दीपक पारेख ने इस विलय को विवाह का रूप दिया है, जिसमें गृह फाइनेंस, बंधन परिवार के लिए दुल्हन के सामान है। इससे बंधन बैंक को सुरक्षित पोर्टफोलियो को बढ़ाने में मदद मिलेगी।

इस विलय के बाद बंधन बैंक (Bandhan Bank) के पास 34 राज्यों में 4,182 बैंकिंग ऑउटलेट के साथ 476 एटीएम मिलेंगे। दोनों ही ने मार्केट में जानकारी दी है, जिसमें कहा है कि विलय के बाद विकास, सूचनाओं और टैक्नोलॉजी के एकीकरण करने में मदद मिलेगी।

GoAir ने पेश किया बंपर ऑफर, सिर्फ 1,119 रुपए में मिल रही है हवाई टिकट

बता दें कि कंपनी ने कहा है कि इस विलय से संसाधन जुटाने, संसाधनो का इस्तेमाल और खास तालमेल बनाने में मदद मिलेगी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story