Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ये शख्स बना केवल 7 मिनट में दुनिया का सबसे अमीर व्यक्ति, वजह जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान!

करीब 7 मिनट में इस शख्स ने अरबपति एलन मस्क को भी पीछे कर दिया है। आइए आपको इसके बारे में विस्तार से बताते हैं...

ये शख्स बना केवल 7 मिनट में दुनिया का सबसे अमीर व्यक्ति, वजह जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान!
X

जब बात आती है कि दुनिया में सबसे अमीर व्यक्ति कौन (who is the richest person in the world) है तो ज्यादातर लोगों का जवाब एलन मस्क (Elon Musk) ही होगा, जोकि टेस्ला के संस्थापक हैं। वहीं, अगर ऐसे लोगों का नाम पूछा जाए जो कभी न कभी अपनी जिंदगी में दुनिया के सबसे अमीर शख्स रह चुके हैं तो अधिकतर लोगों का जवाब मार्क जुकरबर्ग (Mark Zuckerberg), बिल गेट्स (Bill Gates) या जेफ बेजोस (Jeff Bezos) हो सकता है। बता दें कि एलन मस्क की गिनती भी ज्यादा अमीर शख्स की सूची में आती है, इनका नेटवर्थ लगभग 238 अरब डॉलर है। वहीं, एक ऐसा शख्स सामने आया है जिसने दुनिया के सभी अमीर लोगों को पीछे कर दिया है। करीब 7 मिनट में इस शख्स ने अरबपति एलन मस्क को भी पीछे कर दिया है। आइए आपको इसके बारे में विस्तार से बताते हैं...


दरअसल, हम ब्रिटेन के एक यूट्यूबर की बात कर रहे है, जिसका नाम मैक्स फोश (Max Fosh) है। इसके 6 लाख से ज्यादा फॉलोअर्स हैं। इनके दावे के अनुसार ये लगभग 7 मिनट में दुनिया के सबसे अमीर शख्स रह चुके हैं। बता दें कि इन्होंने अनलिमिटेड मनी लिमिटेड (Unlimited Money Limited) नामक कंपनी रजिस्टर कर उसके शेयर को 10 अरब तक तय किया।


इन्होंने अपनी कंपनी का 1 शेयर 50 पाउंड बेचने का तय किया। इसे बेचने के लिए उन्होंने सड़क पर कुर्सी-मेज लगाकर लोगों से बातचीत की, जिसके बाद एक महिला द्वारा मैक्स की कंपनी का 1 शेयर खरीदा गया। का रहा, जिसे एक महिला द्वारा खरीदा गया। जिसके बाद मैक्स की कंपनी की वैल्यूएशन 500 अरब पाउंड हो गई थी, मगर इनकी ये खुशी कुछ पल के लिए ही रही थी।


मैक्स पर फ्रॉड का लगा आरोप

1 शेयर की बिक्री की कीमत के मुताबिक वैल्युएशन देखने के लिए मैक्स फोन ने अपनी कंपनी के कागजातों को अथॉरिटीज भेजा। जिसके बाद उनके पास अथॉरिटीज से एक लेटर आया। इस पत्र में लिखा था कि 1 शेयर सेल करने के अनुसार कंपनी की वैल्यूएशन 500 अरब पाउंड है। ये कंपनी न तो कोई प्रोडक्ट सेल करती है और न कोई रेवेन्यू का अन्य तरीका है तो ऐसे में मैक्स पर फ्रॉड करने का आरोप लगाया गया।

7 मिनट की खुशी नहीं रही ज्यादा देर


जब अथॉरिटीज की ओर से लेटर आया तो शुरुआत में उसमें कंपनी की वैल्युएशन 500 अरब पाउंड लिखी देख वो काफी खुश हो। करीब 7 मिनट तक उनकी ये खुशी कायम रही और वो दुनिया के सबसे अमीर शख्स बन गए। हालांकि, आगे लेटर पढ़ने के बाद उनकी खुशी मायूसी में बदल गई क्योंकि, आगे उन पर फ्रॉड करने का आरोप लगाया गया था और उनसे कंपनी को बंद करने के लिए भी कहा गया। इसके बाद उन्होंने अपनी कंपनी इकलौती शेयर होल्डर महिला को पूरी बात बताई और कंपनी बंद करने के मंजूरी ली जिसके बाद उन्होंने अपनी कंपनी बंद कर दी।

और पढ़ें
Next Story