Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब भारत में अपने विस्तार नहीं करेगी Toyota Motor, कंपनी ने ये बताई वजह

सरकार ऑटोमोबाइल कंपनियों को मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने के लिए दे सकती है 23 अरब डॉलर का इंसेंटिव।

अब भारत में अपने विस्तार नहीं करेगी Toyota Motor, कंपनी ने ये बताई वजह
X

कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के बीच सबसे ज्यादा नुकसान ऑटो मोबाइल कंपनियों को हुआ है। इसकी वजह कंपनियों बिक्री का एक दम नीचे आ जाना है। जिसे कंपनियां पटरी पर लाने का काम कर रही है। वहीं सरकार भी अर्थव्यवस्था को फिर से ऊपर लाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। इसबीच (Toyota Motor Corporation) टोयोटा मोटर कॉर्पोरेशन ने भारत में अपने कंपनी के विस्तार पर रोक लगा दी है। इसकी वजह कंपनी Toyota Motor Corporation भारत की उच्च टैक्स व्यवस्था बता रही है। इतना ही नहीं कंपनी का दावा है कि टैक्स व्यवस्था की वजह से ही वह अपने अपने कारोबार का और अधिक विस्तार नहीं करेगी। इस कंपनी का यह कदम सरकार को झटका देने वाला है। जहां सरकार अलग अलग तरह के ऑफर देकर दूसरे देशों से भी कंपनियों को भारत में निवेश करने के लिए बुला रही है। वहीं टोयोटा का भारत में अपने विस्तार पर रोक लगाने से अर्थव्यवस्था के साथ ही दूसरे देशों से भारत आने वाले निवेशकों पर बुरा प्रभाव डालेगा।

एक रिपोर्ट के अनुसार, सरकार अर्थव्यवस्था (GDP) को दोबार से ऊपर उठाने के लिए कंपनियों को मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने के लिए आकर्षित कर रही है। इसके लिए सरकार जल्द ही मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने वाली कंपनियों को 23 अरब डॉलर का इंसेंटिव देने की योजाना बना रही है। ऑटोमोबाइल सेक्टर की बात करें तो भारत दुनिया का चौथा सबसे बड़ा कार बाजार है, लेकिन ऑटोमोबाइल कंपनियों को अपने कारोबार को विस्तार देने के लिए मुश्किलों का लगातार सामना करना पड़ा रहा है।

सरकार के टैक्स ज्यादा करने से नाराज है कंपनी

टोयोटा के भारतीय यूनिट Toyota Kirloskar Motor के वाइस चेयरमैन शेखर विश्वनाथन ने कहा कि भारत सरकार (Indian Government) ने Car और Bike पर बहुत ज्यादा टैक्स लगा रखा है। इसकी वजह कंपनियां अपने व्यापार को बढ़ा नहीं पा रही है। हमें काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा, ज्यादा Tax की वजह से गाड़ियां ग्राहकों की पहुंच से बाहर हो रही है। ऐसे में कार और बाइकों की बिक्री प्रभावित हो रही है। इससे कंपनी का बिजनेस लगातार गिर रहा है।

भारत में कम हुई टोयोटा की बिक्री, कंपनी ने 23 साल पहले भारत में शुरू किया था कारोबार

जापानी कंपनी टोयोटा ने भारत में आज से 23 साल पूर्व यानि 1997 में कारोबार की शुरुआत की थी। टोयोटा की भारतीय यूनिट में जापानी कंपनी की 89 प्रतिशत की हिस्सेदारी है। इतना ही नहीं टोयटा दुनिया भर की बडी कार कंपनियों में शामिल है। वहीं (FADA) के आंकड़ों के अनुसार, अगस्त 2020 में घरेलू वाहन बाजार में टोयोटा की हिस्सेदारी 2.6 प्रतिशत रह गई है। जो पहले करीब 5 प्रतिशत थी।

Next Story
Top